उल्टी होने से रोकने के 10 घरेलू उपचार – Vomiting Home Remedies in Hindi

उल्टी होना कोई गंभीर स्वास्थ्य समस्या नहीं होती। बल्कि यह तो शरीर में होने वाली कोई अस्थाई समस्या की प्रतिक्रिया के रूप में सामने आती है।

उल्टी आने के कुछ सामान्य कारण हैं – ज्यादा खाना खा लेना (overeating), अत्यधिक शराब का सेवन, फूड पाइजनिंग (food poisoning)पेट दर्द (stomach flu), डिप्रेशन या तनाव, गर्भावस्था (प्रेगनेंसी) और मोशन सिकनेस (लम्बे सफर के कारण होने वाली जी मचलने की समस्या)।

उल्टी और जी मचलने की समस्या से छुटकारा पाने के लिए नीचे दिए गए घरेलू उपचारों को अपनाएं –

1. अदरक (Ginger)

अदरक हमारे पाचन तंत्र को हेल्थी बनाये रखने में काफी मददगार होता है। यह उल्टी को रोकने के लिए प्राकृतिक एंटी-एमेटिक औषधि की तरह काम करता है।

  • एक-एक चम्मच अदरक का जूस और नींबू का जूस मिलाकर सेवन करें। इसका सेवन हर एक-दो घंटे में एक बार करें जबतक कि उल्टी पूरी तरह से ठीक न हो जाये।
  • या फिर, अदरक और शहद की चाय बनाकर सेवन करें।

2. चावल का पानी (Rice Water)

चावल का पानी उल्टी को कम करने में मदद करता है, खासतौर से जब यह gastritis (जठरशोथ) के कारण हुई हो। चावल का पानी बनाते समय भूरे चावल (brown rice) की जगह सादा चावल का इस्तेमाल करें, क्यूंकि इसमें अधिक मात्रा में स्टार्च होता है और यह आसानी से पच जाता है।

  • डेढ़ कप पानी में एक कप चावल डालकर उबालें।
  • अब इस पानी को छानकर सेवन करें।

3. दालचीनी (Cinnamon)

दालचीनी पेट को शांत करने में मदद करती है और पाचन में समस्या के कारण होने वाली उल्टी और जी मचलने की समस्या को ठीक करती है।

  • एक कप उबलते पानी में डेढ़ चम्मच दालचीनी का पाउडर डालें। आप पाउडर की जगह दालचीनी की स्टिक का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।
  • अब इसे छान लें।
  • आप इसमें एक चम्मच शहद भी मिला सकते हैं।
  • अब इसे धीरे-धीरे चाय की तरह सेवन करें।

नोट – इस उपचार को गर्भवती महिलायें न करें।

4. पुदीना (Mint)

पुदीना की चाय भी उल्टी से राहत प्रदान करने में मदद करती है, खासतौर से जब यह पेट की ख़राबी के कारण हुई हो।

  • डेढ़ चम्मच सूखी पुदीना की पत्तियों को एक कप पानी में डालें। अब इसे 5-10 मिनट के लिए उबालें। अब इस चाय को छानकर सेवन करें।
  • यदि आपके पास ताजा पुदीना की पतियां उपलब्ध हैं तो इन्हें केवल चबाकर सेवन करें।
  • या फिर, एक-एक चम्मच पुदीना के जूस और नींबू के रस को दो चम्मच शहद के साथ मिलाकर मिश्रण बना लें। इस मिश्रण को दिन में तीन बार सेवन करें।

5. सेब का सिरका (Apple cider Vinegar)

सेब का सिरका पेट को शांत करता है और विषहरण (detoxification) की प्रक्रिया को बढ़ाता है। इसमें एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टीज होती हैं जो food poisoning को ठीक करने में मदद करती हैं।

  • दो-दो चम्मच सेब का सिरका और शहद को एक गिलास पानी में मिलाकर सेवन करें।
  • उल्टी की गंध के कारण और ज्यादा उल्टी हो सकती हैं। इसलिए अपनी सांसो को फ्रेश करने के लिए डेढ़ चम्मच पानी में एक चम्मच सेब का सिरका मिलाकर मुंह का कुल्ला और गरारे करें।

6. लौंग (Clove)

लौंग में सूथिंग प्रॉपर्टीज होती हैं जो पाचन को ठीक करने में मदद करती हैं और उल्टी की समस्या को कम करती हैं। यह खासतौर से पेट के जूस के असंतुलन के कारण होने वाली उल्टी और जी मचलने की समस्या को ठीक करने में मदद करती है।

  • एक-दो लौंग को चबाकर खाएं या इसकी चाय बनाकर सेवन करें।
  • या फिर, कुछ भुनी हुई लौंगों को शहद के साथ निगल लें।

7. सौंफ (Fennel)

सौंफ पाचन प्रक्रिया को बढ़ाती है और जी मचलने की समस्या को कम करती है। इसमें एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टीज होती हैं जो पेट के फ्लू ठीक करती हैं।

  • एक चम्मच पीसी हुई सौंफ को एक कप पानी में डालकर 10 मिनट के लिए उबालें। अब इस चाय को छानकर सेवन करें।
  • केवल सौंफ को चबाकर खाने से भी इसका पूरा फायदा उठाया जा सकता है।

8. जीरा (Cumin)

उल्टी का उपचार करने के लिए जीरा सबसे अच्छा और सरल घरेलू उपचार है। जीरा अग्न्याशय के एंजाइमों के स्त्राव को बढ़ाने में मदद करता है जिससे पाचन प्रक्रिया ठीक होती है।

  • डेढ़ चम्मच जीरा को पानी में मिलाकर पी लें।
  • या फिर, एक कप पानी में एक चम्मच जीरा और एक चुटकी जायफल मिलाकर उबालें। अब इसे छानकर चाय की तरह सेवन करें।
  • या फिर, एक चम्मच शहद में थोड़ा सा जीरा का पाउडर और इलायची पाउडर मिलाकर धीरे-धीरे सेवन करें।

9. प्याज का रस (Onion Juice)

प्याज के रस में एंटीबायोटिक प्रॉपर्टीज होती हैं इसलिए यह भी उल्टी और जी मचलने की समस्या से लड़ने में मदद करता है।

  • एक-एक चम्मच प्याज के रस और अदरक के रस को मिलाकर सेवन करें।
  • या फिर, डेढ़ कप प्याज के रस में दो चम्मच शहद मिलाकर सेवन करें।

10. नमकीन बिस्कुट

उल्टी और जी मचलने की समस्या को ठीक करने में नमकीन बिस्कुट भी काफी लाभकारी होते हैं। यह आसानी से डाइजेस्ट हो जाते हैं और पहले से मौजूद पाचन की समस्याओं को कम करने में मदद करते हैं।

पाचन सम्बन्धी कोई भी समस्या होने पर नमकीन बिस्कुट का सेवन करें।

अतिरिक्त टिप्स

  • जब भी आपको उल्टी आने का अनुभव हो या जी मचले तो लंबी-लंबी और गहरी सांस लें और प्राणायाम करें।
  • अपने भोजन में हल्के और आसानी से पचने वाले खाद्य पदार्थों को शामिल करें। भोजन को धीरे-धीरे और अच्छे से चबाकर खाएं।
  • तले-भुने खाद्य पदार्थों का सेवन न करें।
  • भरपूर मात्रा में तरल पदार्थों का सेवन करें।
  • अपने शरीर को जरूरत अनुसार आराम दें।
  • रात को अधिक देर तक न जागें।
  • मजबूत गंध (strong odors) जैसे परफ्यूम आदि से दूर रहें।
  • खाना खाने के बाद तुरंत आराम न करें, बल्कि पहले 15-20 मिनट के लिए खुली हवा में टहलें और फिर आराम करें।

यह घरेलू उपचार ज्यादातर मामलों में उल्टी और जी मचलने की समस्या को ठीक कर देते हैं। यदि आपको इनको अपनाने के बाद भी आपकी कंडीशन में कोई सुधार नहीं आ रहा है तो अपने डॉक्टर से उचित जांच करायें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.