स्टैमिना और एनर्जी बढ़ाने के 10 घरेलू नुस्खे – Home Remedies to Increase Stamina and Energy

स्टैमिना हर व्यक्ति के लिए काफी महत्वपूर्ण होता है, चाहे फिर वह एथलीट हो, खिलाड़ी हो, फैक्ट्री वर्कर हो या कोई अन्य भारी काम करता हो। स्टैमिना का मतलब होता है कोई भी व्यक्ति बिना थके कोई कार्य कितना पूरा कर सकता है। जिस व्यक्ति का स्टैमिना ज्यादा होता है वो किसी भी कार्य को बिना थके ज्यादा कर पाता है। इसका एक और मतलब होता है, किसी भी व्यक्ति के लिए टेंशन फ्री लाइफ जीने के लिए जरूरी लम्बा मानसिक प्रयास।

लो स्टैमिना और एनर्जी होने का सबसे मुख्य कारण होता है अनियमित लाइफस्टाइल। जैसे अनियमित खानपान, कैफीन और शराब का अत्यधिक सेवन, नशीले पदार्थों का सेवन, अत्यधिक शारीरिक गतिविधि, नींद की कमी, अत्यधिक तनाव और डिप्रेशन और डिहाइड्रेशन।

कुछ हेल्थ प्रॉब्लम्स जैसे सर्दी-जुकाम (common cold), एलर्जी, निष्क्रिय या अति सक्रिय थाइरोइड, मोटापा, मधुमेह (डायबिटीज) और कैंसर के कारण भी स्टैमिना और एनर्जी में कमी आ सकती है।

कोई भी शारीरिक गतिविधि करने के बाद थकावट होना और स्टैमिना और एनर्जी में कमी आना हेल्थी प्रक्रिया होती है। लेकिन, यदि आप नार्मल लोगों के मुकाबले काफी जल्दी थक जाते हैं तो आपमें निश्चित रूप से स्टैमिना और एनर्जी की कमी है।

यदि आपमें स्टैमिना की कमी है तो कुछ लाइफस्टाइल में बदलाव करके और कुछ आसान घरेलू नुस्खों को अपनाकर आप अपना स्टैमिना बढ़ा सकते हैं।

यहां पर स्टैमिना और एनर्जी बढ़ाने के 10 सबसे कारगर घरेलू नुस्खे दिए जा रहे हैं

1. शीरा (Blackstrap Molasses)

शीरा को स्टैमिना बढ़ाने में काफी लाभकारी माना जाता है। इसमें अत्यधिक मात्रा में आयरन, मैंगनीज, पोटैशियम और कॉपर पाया जाता है हाई एनर्जी लेवल को बनाये रखने में मदद करता है।

  • एक गिलास गर्म दूध या पानी में एक दो चम्मच शीरा मिलाएं।
  • रोज इसका सेवन दो बार करें।

2. नारियल का तेल (Coconut Oil)

नारियल का तेल भी स्टैमिना और एनर्जी बढ़ाने में लाभकारी होता है। इसमें MCTs ((medium-chain triglycerides) नामक हेल्थी फैट्स पाए जाते हैं जो आसानी से डाइजेस्ट हो जाते हैं और डायरेक्ट एनर्जी प्रदान करते हैं।

साथ ही, नारियल का तेल ह्रदय के लिए फायदेमंद होता है और इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करता है। यदि इसका उचित मात्रा में सेवन किया जाये तो यह पेट की चर्बी को कम करने में भी मदद करता है।

रोज 3 से 4 चम्मच नारियल के तेल का सेवन करें। आप अपने भोजन पकाने में नार्मल आयल की जगह कोकोनट आयल को इस्तेमाल कर सकते हैं।

3. सेब का सिरका (एप्पल साइडर विनेगर)

सेब के सिरका को भी थकावट दूर करने में फायदेमंद माना जाता है। यह शरीर को एल्कालाइन करके एनर्जी युक्त रखने में मदद करता है। साथ ही, इस हेल्थ टॉनिक में इलेक्ट्रोलाइट्स भी भरपूर मात्रा में होते हैं जो स्टैमिना को बढ़ाते हैं।

  • दो चम्मच कच्चे बिना छने हुए सेब के सिरका को एक गिलास पानी में मिलाएं।
  • अब इसमें स्वादानुसार शहद मिलाकर सेवन करें।

4. हल्दी (Turmeric)

हल्दी में curcumin नामक कंपाउंड पाया जाता है जिसके कई हेल्थी फायदे होते हैं। इसमें मौजूद शक्तिशाली एंटी-इन्फ्लामेट्री प्रॉपर्टीज, थकावट को दूर करने में मदद करती हैं और एनर्जी लेवल को बढ़ाती हैं।

साथ ही, हल्दी रिकवरी टाइम को कम करती है और परफॉरमेंस को बढ़ाने में मदद करती है। यहां तक कि यह थकावट के बाद मांशपेशियों को रिपेयर करने में भी मदद करती है।

  • एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच हल्दी मिलाकर सेवन करें।
  • अपने भोजन में हल्दी मिलाएं।
  • आप हल्दी के सप्लीमेंट भी ले सकते हैं। इसके उचित डोज जानने के लिए अपने डॉक्टर से सलाह लें।

5. ग्रीन टी

एक कप रेफ्रेशिंग ग्रीन टी भी आपके स्टैमिना और एनर्जी लेवल को बढ़ा सकती है। इसमें पाली फिनोल (polyphenols) होते हैं जो थकान और तनाव को कम करने में मदद करते हैं और अच्छी नींद को बढ़ावा देते हैं।

2005 में अमेरिकन फिजियोलॉजी सोसाइटी जर्नल में पब्लिश हुई एक रिपोर्ट के अनुसार, ग्रीन टी का नियमित सेवन करने से एक्सरसाइज परफॉरमेंस की क्षमता 24% तक बढ़ जाती है।

  • एक कप पानी में एक चम्मच ग्रीन टी डालकर उबालें। अब इसे 5 मिनट के ठंडा होने दें और फिर छानकर सेवन करें। आप इसमें स्वादानुसार शहद भी मिला सकते हैं।
  • आप ग्रीन टी के सप्लीमेंट भी ले सकते हैं। इसके उचित डोज के लिए डॉक्टर से सलाह लें।

6. मैग्नीशियम युक्त पदार्थों का सेवन करें (Eat Magnesium-Rich Foods)

शरीर में थोड़ी सी भी मैग्नीशियम की कमी होने पर हमारे स्टैमिना और एनर्जी लेवल पर बुरा असर पड़ता है। शरीर के ग्लूकोज को एनर्जी में बदलने में मैग्नीशियम काफी अहम भूमिका निभाता है।

इसलिए, जब भी आपका एनर्जी लेवल कम हो तो अपने भोजन में मैग्नीशियम युक्त पदार्थों को शामिल करें। पुरुषों के शरीर को रोज कम से कम 350 ग्राम और महिलायों के शरीर को 300 मैग्नीशियम की जरूरत होती है।

  • गहरे हरे रंग की पत्तेदार सब्जियां, नट्स (बादाम आदि), बीज, फिश, सोयाबीन, केला, एवोकाडो और डार्क चॉकलेट में मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में होता है।
  • आप मैग्नीशियम के सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं, लेकिन पहले डॉक्टर से सलाह लेकर।

7. सक्रिय रहें (Stay Active)

शारीरिक रूप से सक्रिय रहने से शरीर की एनर्जी प्रोडक्शन की क्षमता बढ़ती है। इसमें चलना या टहलना ज्यादा फायदेमंद होता है। यह फेफड़ों की कैपेसिटी बढ़ाने में मदद करता है और ह्रदय के आसपास की मांशपेशियों को मजबूत बनाता है।

साथ ही, इससे पाचन भी ठीक होता है जिससे शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है। यह सभी कारक अच्छे स्टैमिना और उच्च मेटाबोलिज्म के लिए जरूरी होते हैं।

  • रोज सुबह खुले एरिया में टहलें। यदि संभव हो तो घास पर नंगे पैर चलें।
  • स्विमिंग, साइकिलिंग और रनिंग भी स्टैमिना बढ़ाने में लाभकारी हैं।

8. डायाफ्रामिक ब्रीथिंग का अभ्यास करें (Practice Diaphragmatic Breathing)

डायाफ्रामिक ब्रीथिंग का अभ्यास करने से एनर्जी को रिस्टोर करने में काफी मदद मिलती है। जब हमारे शरीर और दिमाग को ज्यादा ऑक्सीजन मिलती है तो उसपर इसका शांतिकारी प्रभाव होता है। साथ ही, इससे डिप्रेशन और तनाव से लड़ने में भी काफी मदद मिलती है।

  • किसी आरामदायक फ्लैट जगह पर सीधे लेट जायें।
  • अपने हांथों को अपने पेट पर रखें।
  • अब 2 सेकंड के लिए, अपनी नाक से अन्दर की तरफ एक लम्बी गहरी सांस लें।
  • अब इस सांस को धीरे-धीरे अपने मुंह से 4 सेकंड में बाहर निकालें।
  • इस अभ्यास को कम से कम 10-15 के लिए करते रहें।
  • रोज इस अभ्यास को 2-3 बार करने के आपके स्टैमिना और एनर्जी में काफी बढ़ोतरी होगी।
  • इसके अलावा आपका तनाव और टेंशन भी कम होगा, जिससे आपकी कार्यक्षमता बढ़ेगी।

9. तेल से कुल्ला करना (Oil Pulling)

यह एक प्राचीन आयुर्वेदिक उपचार है जिसका इस्तेमाल एनर्जी को बढ़ाने में किया जाता है। जब हमारा इम्युनिटी सिस्टम शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालता है तो इससे हमारे एनर्जी लेवल में भी कमी आती है। लेकिन, तेल से कुल्ला करने से विषाक्त पदार्थ आसानी से बाहर निकल जाते हैं, जिससे एनर्जी बचाने में मदद मिलती है।

  • दो चम्मच आर्गेनिक नारियल के तेल को अपने मुंह में डालें।
  • अब इस तेल को 10-15 मिनट के लिए अपने मुंह में अगल-बगल और चारों तरह हर कोने में घुमाएं।
  • अब इस तेल को बाहर थूंक दें। कभी भी इस तेल को निगलें नहीं।
  • अब अपने दांतों को ब्रश कर लें और गर्म पानी से कुल्ला कर लें।
  • इस उपचार को रोज सुबह कुछ भी खाने से पहले करें।

10. हाइड्रेटेड रहें (Stay Hydrated)

हमारे शरीर का 65 से 70 प्रतिशत हिस्सा पानी होता है, इसलिए शरीर में पानी की कमी होने पर स्टैमिना और एनर्जी लेवल पर भी बुरा असर पड़ता है।

अपने शरीर को हाइड्रेटेड रखकर आप थकान को कम कर सकते हैं एनर्जी लेवल बढ़ा सकते हैं। पानी मांसपेशियों की थकान को कम करके स्टैमिना बढ़ाने में भी मदद करता है।

  • भरपूर मात्रा में पानी का सेवन करें और कभी भी प्यासे न रहें।
  • इसके अलावा, आप फलों और सब्जियों के जूस का सेवन भी कर सकते हैं।
  • सूप, मुरब्बा और शोरबा भी हमारे शरीर को हाइड्रेटेड रखने में मदद करते हैं।

साथ ही, शराब और कैफीन का सेवन कम से कम करें क्यूंकि इनसे शरीर में पानी की कमी आती है।

अतिरिक्त टिप्स

  • रोज भरपूर नींद लें। इससे आपके शरीर की हीलिंग प्रोसेस ठीक रहेगी।
  • शारीरिक श्रम करते समय बीच-बीच में थोड़ा रेस्ट लेते रहें। इससे एनर्जी को दोबारा रिस्टोर होने में मदद मिलेगी।
  • अपने भोजन से अत्यधिक तले-भुने और एनर्जी पर बुरा असर डालने वाले पदार्थों जैसे समोसा, चिप्स, रिफाइंड फूड प्रोडक्ट्स, शुगर, कैफीन को बाहर निकाल दें।
  • आयरन, प्रोटीन और काम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट्स से युक्त पदार्थों का सेवन खूब करें।
  • अपनी दिनचर्या और जीवनशैली को नियमित बनायें। तनाव मुक्त रहें, खुश रहें और पॉजिटिव रहें।
  • अपनी मानसिक सतर्कता और शारीरिक शक्ति बढ़ाने के लिए नियमित योग करें।
  • रोज कम से कम 15 मिनट के लिए मैडिटेशन करें।
  • शराब, धूम्रपान और ड्रग्स से दूर रहें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.