शहद के10 फायदे – Honey Health Benefits in Hindi

शहद एक मीठा द्रव खाद्य पदार्थ होता है जिसे मधुमक्खियाँ फूलों के रसों से इकठ्ठा करती हैं। इसमें ग्लूकोस, फ्रक्टोज और बहुत सारे मिनरल्स जैसे आयरन, कैल्शियम, फॉस्फेट, सोडियम, क्लोरीन, पोटैशियम, मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। इसमें विटामिन बी1, बी2, बी3, बी5 और बी6 भी भरपूर पाए जाते हैं।

शहद में शक्तिशाली एंटीसेप्टिक, एंटीबैक्टीरियल और हीलिंग प्रॉपर्टीज होने के कारण इसे कई कॉमन हेल्थ प्रॉब्लम्स में मेडिसिन की तरह इस्तेमाल किया जाता है।

शहद के 10 सबसे उत्तम फायदे नीचे दिए जा रहे हैं –

1. ऊर्जा बढ़ाता है

शहद शरीर के ऊर्जा के स्तर को तुरंत बढ़ा देता है। इसमें अत्यधिक नेचुरल शुगर होने के कारण यह कैलोरीज और ऊर्जा का काफी अच्छा स्त्रोत है।

यह थकान और लो एनर्जी की परेशानी को कम करता है। साथ ही यह शरीर की कुछ मीठा खाने की इच्छा को भी पूरा कर देता है और इससे मोटापा भी नहीं बढ़ता। इसलिए जब भी आपको कुछ मीठा खाने की इच्छा हो तो एक चम्मच कच्चे आर्गेनिक शहद का सेवन करें।

2. मांसपेशियों की थकान को दूर करता है

एथलीट, पहलवान या अत्यधिक काम करने वाले लोगों को अक्सर मांसपेशियों में थकान महसूस की समस्या हो जाती है जिससे उनके परफॉरमेंस लेवल पर भी बुरा असर पड़ता है। शहद का सेवन करने से यह समस्या आसानी से दूर हो जाती है।

शहद में ग्लूकोस और फ्रक्टोज का उचित संयोजन होने के कारण यह शरीर की मांशपेशियों को इंस्टेंट एनर्जी प्रदान करता है और उनकी थकान को दूर करता है। शरीर ग्लूकोस को जल्दी-जल्दी सोखकर इंस्टेंट एनर्जी में बदल है और फ्रक्टोज को धीरे-धीरे सोखकर सस्टेन एनर्जी में बदल देता है।

3. ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करता है

शहद एक मीठा खाद्य पदार्थ होता है लेकिन फिर भी मधुमेह के रोगी इसे बिना किसी परेशानी के सेवन कर सकते हैं। इसमें ग्लूकोस और फ्रक्टोज का उचित मेल होने के कारण यह शरीर के ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रण में रखने में मदद करता है। साथ ही इसमें मौजूद मिनरल्स, विटामिन्स और एंटीऑक्सीडेंट गुण शरीर के लिए काफी फायदेमंद होते हैं।

जिन लोगों को type-1 diabetes है वो रोज एक चम्मच शहद का सेवन करें।

4. खांसी को ठीक करता है

कुछ अनुसंधानों से यह बात सामने आई है कि खांसी को ठीक करने के लिए शहद का सेवन किसी अन्य खांसी की दवा से ज्यादा प्रभावी होता है। इसमें काफी शक्तिशाली एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं जो गले में बैक्टीरियल इन्फेक्शन को खत्म करके खांसी को ठीक कर देती हैं।

खांसी से तुरंत राहत पाने के लिए आधा गिलास निम्बू के रस में एक बड़ी चम्मच शहद मिलाकर सेवन करें। स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें थोडा सा नमक भी डाल सकते हैं।

5. घाव और चोट को जल्दी भरता है

शहद में नेचुरल एंटीसेप्टिक, एंटीबैक्टीरियल और एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टीज होती हैं। यह प्रॉपर्टीज घाव और चोट में इन्फेक्शन होने से रोकती हैं, उसे साफ रखती हैं, बदबू और मवाद को खत्म करती हैं, दर्द कम करती हैं और उसे जल्दी भरने में करती हैं।

पहले गर्म पानी में डेटॉल मिलाकर घाव को अच्छी तरह से साफ करें। अब उसपर शहद की एक परत बना दें और ऊपर से पट्टी बांध दें। इस पट्टी को हर 24 घंटे में एक बार बदलें। जिन लोगों को टोपिकल एंटीबायोटिक्स से एलर्जी है उनके लिए शहद एक अच्छा ऑप्शन है।

6. छोटे-मोटे आग से जलने के घावों को भरता है

शहद को छोटे आग से जलने के घावों के इलाज में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल प्रॉपर्टीज होती हैं जो घाव में बैक्टीरियल को पनपने से रोकती हैं। साथ ही इसमें एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टीज भी होती हैं जो इन्फेक्शन को रोकती हैं।

यदि आपके शरीर का कोई भी हिस्सा आग से जल गया है तो उसपर रॉ हनी को लगायें। इससे आपको दर्द और खुजली में तुरंत आराम महसूस होगा। घाव जल्दी भरने के लिए उसपर शहद को दिन में तीन चार बार लगायें।

7. अनिद्रा को दूर करता है

कई लोगों को रात को नींद न आने की समस्या (अनिद्रा) होती है। शहद इस समस्या के इलाज के लिए काफी फायदेमंद होता है। शहद फैट को डाइजेस्ट करने वाला कार्बोहाइड्रेट होता है जो इन्सुलिन के स्त्राव को बड़ाता है और tryptophan (नियासिन) को दिमाग तक पहुंचाने में मदद करता है। जब हमारे दिमाग में tryptophan की मात्रा बढ़ जाती है तब हमें नींद आती है।

इसलिए रोज रात को सोने से पहले एक गिलास दूध में शहद मिलाकर सेवन करें। इन दोनों में ही tryptophan होता है।

8. स्किन के लिए फायदेमंद होता है

चूंकि शहद में एंटी-माइक्रोबियल और एंटी-फंगल गुण होते हैं इसलिए यह स्किन को हेल्दी और ग्लोइंग बनाने में काफी मददगार साबित होता है।

यदि आपकी स्किन पर कोई धब्बा है तो रोज रात को सोने से पहले उसपर थोड़ा सा शहद लगायें। इससे स्किन, रातभर में हनी की मेडिकल प्रॉपर्टीज को सोख लेगी। सुबह इसे गर्म पानी से धो लें। ऐसा कुछ दिनों तक लगातार करने से आपकी स्किन का धब्बा खत्म हो जायेगा।

कुछ अन्य स्किन की समस्यायों जैसे खुजली, दाद (ringworm) और सोरायसिस में भी शहद फायदेमंद होता है। यह स्किन के प्रज्वलन और शुष्कता में भी लाभकारी होता है।

9. मोटापा कम करता है

शहद में भरपूर विटामिन्स, मिनरल्स और एमिनो एसिड्स होते हैं। यह सभी पदार्थ शरीर में फैट और कोलेस्ट्रॉल के मेटाबोलिज्म बढ़ाते हैं। इससे शरीर में अतिरिक्त चर्बी जमा नहीं होती और मोटापा कंट्रोल में रहता है

वजन को में रखने के लिए रोज सुबह खाली पेट एक गिलास गर्म पानी में शहद और निम्बू मिलाकर सेवन करें। इसे नियमित करते रहने से शरीर के विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं, लिवर साफ रहता है और शरीर में अतिरिक्त चर्बी जमा नहीं होती।

10. पाचन को सुधारता है

शहद काफी कारगर एंटी-माइक्रोबियल एजेंट है जो पूरे पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद होता है। इसमें glucose oxidase नामक एंजाइम पाया जाता है जो शरीर में हल्की मात्रा में हाइड्रोजन पेरोक्साइड प्रोड्यूस करता है। हाइड्रोजन पेरोक्साइड शरीर में gastritis की बीमारी को ठीक करने में मदद करता है।

शहद, अत्यधिक खाने के कारण पेट में बनी गैस को भी ठीक करता है। अपने पाचन को ठीक रखने के लिए रोज खाने से पहले दो चम्मच शहद का सेवन करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.