रूखी त्वचा के 10 घरेलू उपचार

सर्दियों में त्वचा का रूखा सूखा हो जाना और फटना एक आम बात है। आसपास के वातावरण की ठंडी और शुष्क हवा हमारी कोमल त्वचा को आसानी से रूखी-सूखी बना सकती है।

अन्य कारक जो त्वचा को रूखा-सूखा बनाने में योगदान देते हैं, वो हैं – बढ़ती उम्र, पोषक तत्वों की कमी और आनुवंशिक (जेनेटिकल) कारक।

बाजार में कई ऐसे लोशन और मॉइस्चराइजर उपलब्ध होते हैं जो आसानी से रूखी त्वचा को कोमल बना सकते हैं। लेकिन इनमें से ज्यादातर प्रोडक्ट्स काफी महंगे होते हैं और इनके कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं।

इसलिए अपनी त्वचा को प्राकृतिक रूप से हरा-भरा बनाये रखने के लिए आप कुछ सस्ते घरेलू नुस्खों को भी अपना सकते हैं, जिनके इस्तेमाल से आपकी त्वचा लम्बे समय तक नम और पोषक तत्वों से भरपूर रहेगी।

यहाँ पर रूखी त्वचा को नम बनाने के 10 सबसे कारगर घरेलू नुस्खे दिए जा रहे हैं –

1. जैतून का तेल

जैतून के तेल से रूखी त्वचा को मुलायम बनायें

जैतून के तेल में बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट्स और हेल्थी फैटी एसिड्स पाए जाते हैं जो आपकी त्वचा के लिए अच्छे होते हैं।

यह आपके पूरे शरीर की रूखी त्वचा को पोषण प्रदान करता है।

  • नहाने के लगभग आधा घंटा पहले अपने हांथों, पैरों और शरीर की अन्य रूखी त्वचा पर जैतून का तेल लगाकर हल्के-हल्के मालिश करें। नहाने के बाद अपनी स्किन पर कोई हल्का मॉइस्चराइजर लगा लें।
  • या फिर, 3 चम्मच जैतून का तेल, 6 चम्मच बारीक ब्राउन शुगर और डेढ़ चम्मच शहद को मिलाएं। अब इस स्क्रब को अपनी रूखी त्वचा पर लगाएं और कुछ मिनट तक हलके हाथों से सर्कुलर मोशन में रब करें। इसके बाद नहा लें और नारियल का तेल लगा लें।

2. दूध की मलाई

दूध की मलाई में लैक्टिक एसिड होती है जो त्वचा के डेड स्किन सेल्स को बाहर निकालने में मदद करती है।

मलाई में सूथिंग नेचर होने के कारण यह स्किन के उपयुक्त pH लेवल को बनाये रखने में भी मदद करती है।

साथ ही, मलाई एक अच्छी मॉइस्चराइजर भी होती है।

  • दो चम्मच मलाई में एक चम्मच दूध और कुछ बूँदें नींबू का रस मिलाएं। अब इसे अपने हाथ-पैरों में लगाकर रब करें। इसे कुछ देर लगा रहने दें और फिर नहा लें। इस उपचार को रोज एक बार करें।
  • या फिर, 6 चम्मच आटे में जरूरत अनुसार मलाई मिलाकर मोटा पेस्ट तैयार करें। इस पेस्ट को अपने चेहरे, हाथ और पैरों में लगाएं। 15 मिनट के बाद इसे गर्म पानी से साफ कर लें। इस उपचार को भी रोज एक बार करें।

3. दूध

दूध में एंटी-इंफ्लामेटरी और सूथिंग (सुखदायक) गुण होते हैं जो रूखी-सूखी और खुजलीदार त्वचा को ठीक करने में काफी मदद करते हैं।

साथ ही, दूध में मौजूद लैक्टिक एसिड डेड स्किन सेल्स को बाहर निकालती है और त्वचा की नमी सोखने की क्षमता को बढ़ाती है।

इसके अलावा, दूध त्वचा को गोरा बनाने में भी मदद करता है

  • एक साफ कपड़े को ठन्डे दूध में भिगो लें और अपनी सूखी त्वचा पर 5 मिनट के लिए रखें। अब किसी अन्य साफ कपड़े को गर्म पानी से भिगोकर दूध साफ कर लें। ऐसा करने से आपकी त्वचा दूध को सोख लेगी और उसे पोषण प्राप्त होगा।
  • या फिर, 6 चम्मच दूध में कुछ बूंदे गुलाब जल डालें। इस मिश्रण को अपने पूरे शरीर पर रब करें। फिर 10 मिनट के लिए इसे छोड़ दें और फिर धो लें। इस नुस्खे को रोज दो बार अपनाएं।

4. शहद

शहद को सबसे अच्छे प्राकृतिक मॉइस्चराइजर में से एक माना जाता है, जिसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-माइक्रोबियल और त्वचा को पोषण प्रदान करने वाले गुण होते हैं।

इसलिए, यह आपकी त्वचा में नमी को लॉक करके उसे मुलायम और स्मूथ बनाये रखता है। साथ ही, शहद में कई जरूरी विटामिन और मिनरल भी होते हैं जो आपकी त्वचा के स्वास्थ्य को बढ़ाते हैं।

  • नहाने से पहले अपने पूरे शरीर में शहद को लगाकर रब करें और 10 मिनट के लिए छोड़ दें। और फिर नहा लें। अपनी स्किन को नम बनाये रखने के लिए इस उपचार को रोज करें।
  • या फिर मोम, शहद और जैतून के तेल को समान मात्रा में लें। एक छोटी कटोरी में मोम को हल्की आंच में पिघला लें। अब इसे आंच से हटा लें और शहद व जैतून के तेल को एक-एक करके मिला दें। फिर इस मिश्रण को अपने पूरे शरीर पर लगाएं और 10 मिनट के लिए छोड़ दें। इसके बाद नहा लें। इस उपचार को रोज या एक दिन छोड़कर करें।

5. दही

दही काफी अच्छा स्किन-हाइड्रेटिंग एजेंट होता है। साथ ही, इसमें मौजूद एंटी-इन्फ्लामेट्री और एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज सूखी और खुजलीदार स्किन को शांत करने में मदद करती हैं।

इसके अलावा, दही में दूध और मलाई की तरह ही लैक्टिक एसिड भी पाई जाती है जो डॉयनेस और खुजली पैदा करने वाले रोगाणुओं और बैक्टीरिया को मारती है।

  • अपने हाथों, चेहरे और पैरों पर ताजा दही को लगाकर धीरे-धीरे मालिश करें। फिर इसे 10 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर नहा लें। दही स्किन के डेड सेल्स को साफ करेगा और उसे तरोताजा बनाएगा। इसे रोज एक बार करें।
  • या फिर, डेढ़ कप दही में 5 चम्मच पपीता के गूदे को मिलाएं। अब इसमें ऊपर से कुछ बुँदे शहद और नींबू के रस की डालकर अच्छी तरह से मिला लें। इस पेस्ट को अपनी त्वचा पर लगाकर 10 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर धो लें। इस उपचार को हफ्ते में एक बार करें।

6. नारियल का तेल

रूखी-सूखी स्किन का उपचार करने के लिए नारियल का तेल बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होता है।

इसमें अच्छी खासी मात्रा में फैटी एसिड्स पाई जाती हैं जो आपकी त्वचा की खोई हुई नमी को वापस पाने में मददगार होती हैं।

  • रोज सोने से पहले अपने पूरे शरीर में हलके गर्म नारियल के तेल को लगाएं। अपनी त्वचा में नमी बनाये रखने के लिए इस उपचार को रोज करें।
  • रोज नहाने के बाद भी पूरे शरीर में नारियल के तेल को लगाएं। नहाने के बाद स्किन थोड़ी गर्म होती है और आसानी से तेल को सोख लेती है। इसे भी रोज करें।

7. एवोकाडो

एवोकाडो

एवोकाडो में भरपूर मात्रा में फैटी एसिड्स, विटामिन और एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो त्वचा को अंदर से सुधारने में मदद करते हैं।

इसमें मौजूद विटामिन A त्वचा के रखरखाव और रिपेयर में मदद करके उसे स्मूथ और सिल्की बनाये रखता है।

  • एवोकाडो के गूदे को निकालकर अपनी रूखी त्वचा पर लगाएं। 10 से 15 मिनट के लिए इसे लगा रहने दें और फिर पानी से साफ कर लें। इस प्रक्रिया को रोज एक बार दोहराएं।
  • या फिर, एक पके एवोकाडो के आधे टुकड़े को मसल लें और डेढ़ कप शहद में मिलाकर पेस्ट बना लें। इस पेस्ट को अपनी रूखी त्वचा पर लगाकर 15 मिनट के लिए छोड़ दें और फिर पानी से साफ कर लें। इस उपचार हफ्ते में एक या बार इस्तेमाल करें। इसका इस्तेमाल से ज्यादा न करें।
  • आप रोज एक गिलास एवोकाडो के जूस का सेवन भी कर सकते हैं। इससे आपके शरीर में हेल्थी फैटी एसिड्स की मात्रा बढ़ेगी और स्किन को पर्याप्त मात्रा में पोषण प्राप्त होगा।

8. जई का आटा

अपनी त्वचा को नमी प्रदान करने के लिए और रूखी-सूखी त्वचा से छुटकारा पाने के लिए आप जई के आटे का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।

इसमें अत्यधिक मात्रा में प्रोटीन होता है जो त्वचा पर एक प्रोटेक्टिव परत बनाता है। इसके फलस्वरूप त्वचा से पानी और आयल का नुकसान कम होता है और उसमें नमी बानी रहती है।

साथ ही, इसमें एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो त्वचा के सम्पूर्ण स्वास्थय के लिए फायदेमंद हैं।

  • अपने गर्म पानी से भरे नहाने के टब में एक कप जई का आटा और कुछ बूंदे जैतून के तेल की डाल दें। फिर इस पानी में अपने पूरे शरीर को 15 से 30 मिनट के लिए डुबोये रखें। ऐसा करने से आपकी त्वचा धीरे-धीरे जई के आटे और जैतून के तेल के पोषण को सोख लेगी। इस उपचार को हफ्ते में एक बार जरूर करें।
  • या फिर, एक कप जई के आटे में एक पका केला मसल कर मिला दें और फिर ऊपर से थोड़ा गर्म दूध डालकर पेस्ट तैयार करें। इस पेस्ट को अपनी रूखी त्वचा पर लगाकर 15 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर इसे पानी से धो लें। इस उपचार को भी हफ्ते में एक बार करें।

9. बादाम का तेल

बादाम का तेल

बादाम का तेल विटामिन E का काफी अच्छा स्त्रोत होता है, इसलिए इसे रूखी-सूखी त्वचा के लिए सबसे अच्छे मॉइस्चराइजर में से एक माना जाता है।

साथ ही, इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण त्वचा के सम्पूर्ण स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होते हैं।

इसके अलावा, यह तेल ज्यादा चिपचिपा नहीं होता, इसलिए आसानी से त्वचा में अवशोषित हो जाता है।

  • थोड़े से बादाम के तेल को एक कटोरी में लेकर गर्म कर लें। नहाने से आधे घंटे पहले इस गर्म तेल से पूरे शरीर की मालिश करें। नहाने के बाद शरीर में नारियल का तेल लगा लें। इस उपचार को रोज अपनाएं।
  • रोज रात को सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध में एक चम्मच बादाम का तेल मिलाकर सेवन करें। अपनी त्वचा को स्वस्थ बनाये रखने के लिए और अच्छी नींद पाने के लिए इस उपचार को रोज करें।

10. एलोवेरा

एलोवेरा

एलोवेरा में सूथिंग, एंटीसेप्टिक और एंटीफंगल गुण होते हैं जो रूखी-सूखी त्वचा को ठीक करते हैं और त्वचा को फटने से रोकते हैं।

नीचे दिए गए आसान घरेलू नुस्खे को अपनाने से आपकी त्वचा पर एलोवेरा की एक प्रोटेक्टिव परत बन जाएगी जिससे उसे किसी भी प्रकार के बाहरी नुकसान से बचाने में मदद मिलेगी।

  1. एक ताजा एलोवेरा की पत्ती को बीच में से काटकर जेल निकाल लें।
  2. इस जेल को अपनी रूखी त्वचा पर लगाएं और १0-15 मिनट के लिए छोड़ दें।
  3. फिर इसे गर्म पानी से धो लें।
  4. इस उपचार को रोज दो बार करें।

अपनी त्वचा का रूखापन दूर करने के लिए और उसे हमेशा प्राकृतिक रूप से मुलायम और स्मूथ रखने के लिए इन उपचारों को नियमित अपनाएं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.