पेट फूलने की समस्या के 10 घरेलू उपचार

पेट फूलने की समस्या तब होती है, जब छोटी आंत में गैस जमा होने के कारण पेट तंग और फूला हुआ प्रतीत होने लगता है। कई बार, पेट फूलने के साथ-साथ अन्य लक्षण जैसे ऐंठन, उबकाई, दर्द, दस्त, सांस फूलना और पीठ में दर्द भी हो सकते हैं।

पेट फूलने के अन्य कारण निम्न हो सकते हैं – कब्ज, पेट का अल्सर, डिप्रेशन, धूम्रपान, अत्यधिक खाना, बदहजमी और प्रागार्तव (महिलाओं में पीरियड्स से पहले होने वाले बदलाव)।

इस समस्या को ठीक करने का सबसे अच्छा तरीका होता है आंत में फंसी गैस को शौच के जरिये बाहर निकालने की कोशिश करना। यदि आपको यह करने में असफलता मिल रही है तो नीचे दिए गए कुछ घरेलू उपचारों को अपनाएं –

1 – सौंफ

सौंफ में वायुनाशी, ड्यूरेटिक (पेशाब बढ़ाने वाले), दर्द कम करने वाले और रोगाणुरोधी गुण होते हैं। इसलिए यह पाचन सम्बन्धी समस्याओं जैसे पेट फूलना आदि को ठीक करने में काफी मदद करती है।

सौंफ पेट की मांसपेशियों को शांत भी करती है।

  • खाना खाने के बाद थोड़ी सी सौंफ को चबाकर खाएं।
  • एक कप पानी में एक चम्मच सौंफ डालकर 5 से 10 मिनट के लिए उबालें। अब इसे छानकर चाय की तरह सेवन करें। इसका सेवन दिन में दो-तीन बार करें।

2 – पुदीना

पुदीना में मेंथॉल आयल पाया जाता है जो पूरे पाचन तंत्र की मांशपेशियों को शांत करने में मदद करता है।

साथ ही, यह पेट की गैस को शौच के जरिये बाहर निकालने में भी मदद करता है।

  • पेट फूलने की समस्या से तुरंत राहत पाने के लिए पुदीना की कुछ पत्तियों को चबाकर खाएं।
  • या फिर, पानी में पुदीना को उबालकर चाय तैयार करें और दिन में दो-तीन बार सेवन करें।

3 – अदरक

पेट की गैस और फूलने की समस्या ठीक करने के लिए अदरक भी काफी प्रचलित है।

इसमें कई सारे सक्रिय तत्व पाए जाते हैं, खासतौर से gingerols और shogaols, जो आंत में इंफ्लामेशन को कम करते हैं और मांसपेशियों को शांत करते हैं।

  • एक कप उबलते पानी में तीन-चार अदरक के कटे टुकड़े डालें और ढककर 10 मिनट के लिए उबालें। अब पानी को छान लें और थोड़ा सा शहद और नींबू का रस मिलाकर सेवन करें। इस चाय का सेवन दिन में दो-तीन बार करें।
  • या फिर, खाने से पहले ताजा अदरक को छीलकर सेवन करें। आप अपनी सब्जी में भी अदरक को डालकर सेवन कर सकते हैं।
  • या फिर, आप रोज 0.25 से 1 ग्राम अदरक के पाउडर का भी सेवन कर सकते हैं।

4 – कैमोमाइल टी

कैमोमाइल टी भी पेट फूलने की समस्या से जल्दी छुटकारा पाने में मदद करती है। इसमें एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटी-स्पास्मोडिक गुण होते हैं जो पेट को शांत करते हैं और पेट की खराबी को ठीक करते हैं।

  1. एक कप उबलते पानी में एक कैमोमाइल टी बैग डालें। अब इसे ढक दें और 10 मिनट तक उबलने दें।
  2. अब टी बैग को निचोड़कर अलग कर दें और पानी में जरूरत अनुसार नींबू का रस या शहद मिलाकर सेवन करें।
  3. इस चाय को भी दिन में दो-तीन बार सेवन करें।

5 – काला जीरा

काला जीरा में भी रोगाणुरोधी और वायुनाशी गुण होते हैं।

इसमें carvol और carvene नामक दो केमिकल कंपाउंड पाए जाते हैं जो पेट और आंतों की मांसपेशियों को आराम देते हैं और उनमें फंसी गैस को बाहर निकालकर, पेट फूलने की समस्या में तुरंत आराम प्रदान करते हैं।

  • यदि आपको बार-बार पेट फूलने की समस्या होती है तो हमेशा अपनी जेब में काला जीरा रखें और दिन में कई बार एक-एक चुटकी मात्रा को चबाकर खाएं।
  • यदि आपको काले जीरा का स्वाद पसंद नहीं है तो इससे बने बिस्कुट का सेवन करें।
  • या फिर, आप काले जीरा को पीसकर चाय भी बना सकते हैं।

6 – कद्दू

अवांछित पेट फूलने की समस्या को जल्दी ठीक करने के लिए कद्दू का सेवन भी काफी अच्छा तरीका होता है। इसमें अच्छी खासी मात्रा में विटामिन A, पोटैशियम और फाइबर होते हैं जो पाचन को सुधारते हैं

अपने भोजन में सिर्फ दो-तीन कद्दू के स्लाइसेस का सेवन करने से ही आपके पाचन का प्रवाह आसान बनेगा और गैस कम होगी। आप इसको अपने खाने या सब्जी में डालकर भी सेवन कर सकते हैं।

7 – चक्र फूल

चक्र फूल

चक्र फूल में एंटी-स्पास्मोडिक गुण होते हैं जो पाचन तंत्र को शांत करते हैं।

साथ ही, इसमें मौजूद वायुनाशी गुण आपकी आंतों में गैस बनने से रोकेंगे और पेट फूलने की समस्या को ठीक करेंगे।

इस औषधी का पूरा लाभ लेने का सबसे अच्छा तरीका होता है इसकी चाय बनाकर पीना।

चेतावनी: नवजात शिशुओं को चक्र फूल की चाय पिलाने से उनमें उल्टी, बेचैनी और तीव्र नेत्र संचलन की समस्या हो सकती है। साथ ही, गर्भवती महिलाएं भी इसका सेवन न करें।

8 – कोयला

कोयला

कोयला में बहुत सारे छोटे-छोटे छिद्र होते हैं जो पेट और आंत में बैक्टीरिया द्वारा उत्सर्जित की जाने वाली गैस को सोखकर बाहर निकालने में मदद करते हैं।

आप घर पर ही लकड़ी से बने कोयला का सेवन कर सकते हैं। लेकिन यह ज्यादा सक्रिय नहीं होता।

अधिक फायदा लेने के लिए बाजार में उपलब्ध सक्रिय कोयला की टेबलेट, कैप्सूल या पाउडर का सेवन करें। अपने लिए उचित डोज जानने के लिए डॉक्टर से सलाह लें।

9. केला

केला

केला में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो पेट फूलने और गैस को कम करने में मदद करता है।

साथ ही, केला में पोटैशियम होता है जो आपके शरीर में द्रव के स्तर को नियंत्रित करता है और अतिरिक्त द्रव को बाहर निकालने में मदद करता है।

रोज एक या दो केला का सेवन करें। आप इसे नाश्ते, सलाद या खाने के साथ भी सेवन कर सकते हैं।

10. गर्म नींबू पानी

गर्म नींबू पानी का सेवन स्वास्थय के लिए काफी लाभदायक होता है, क्योंकि यह शरीर से नुकसानदायक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है और उसे हाइड्रेटेड रखता है।

नींबू में भरपूर मात्रा में विटामिन बी, विटामिन सी, कैल्शियम, राइबोफ्लेविन, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट्स पाए जाते हैं जो पाचन में काफी मदद करते हैं।

साथ ही, नींबू में मौजूद एसिडिक प्रॉपर्टीज पेट में हाइड्रोक्लोरिक एसिड के प्रोडक्शन को उत्तेजित करती हैं, जिससे खाने को पचने में मदद मिलती है।

इसलिए अपनी पेट फूलने, गैस और कब्ज की समस्या से जल्दी छुटकारा पाने के लिए गर्म पानी में नींबू रस मिलाकर सेवन करें।

निष्कर्ष

पेट फूलने की समस्या आपकी रोजमर्रा के कामकाजों पर बुरा असर डाल सकती है। लेकिन, इन उपचारों को नियमित अपनाकर आप अपने पेट को आसानी से शांत कर सकते हैं। लेकिन, यदि आपको यह समस्या बार-बार होती है और इन उपचारों को अपनाने पर भी कोई लाभ नहीं मिल रहा है तो आपको अपने डॉक्टर से उचित जांच कराकर दवा लेने की जरूरत है। साथ ही, जल्दी फायदा लेने के लिए अपने खानपान और जीवनशैली की बुरी आदतों को सुधारें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.