मुंह की बदबू दूर करने के 10 घरेलू नुस्खे – Mouth Smell Home Remedies in Hindi

मुंह की बदबू (bad breath) काफी शर्मनाक अनुभव होता है और यह आपके आत्मविश्वास में कमी भी ला सकता है।

मुंह से बदबू आने का कारण है – जीभ के पीछे और दांतों के बीच में बदबू पैदा करने वाले बैक्टीरिया का पनपना। बैक्टीरिया पैदा होने के निम्न कारण हो सकते हैं – सुगंधित खाद्य पदार्थों का सेवन, धूम्रपान, मुंह का सूखापन, मसूड़ों की बीमारी, खाने के बाद ठीक से मुंह न धोना आदि। कुछ मेडिकल कंडीशन जैसे साइनस के कारण भी यह समस्या हो सकती है

इसलिए मुंह में बदबू आने से बचने के लिए मुंह को साफ़ रखना बेहद जरुरी होता है। नियमित रूप से दांतों पर ब्रश करें और जीभ को साफ रखें।

सांसों को फ्रेश रखने के लिए दिनभर जरूरत अनुसार पानी पीना भी जरूरी होता है। साथ ही, खाने के बाद अपने मुंह को पानी से अच्छी तरह से कुल्ला करें। इससे दांतों के बीच में फसे भोजन के कण बाहर निकल जायेंगे।

इसके आलावा कुछ घरेलू उपचारों के माध्यम से भी मुंह की बदबू का इलाज किया जा सकता है। इनमें से 10 सबसे कारगर इलाज नीचे दिए जा रहे हैं –

1. सौंफ

सौंफ काफी अच्छे माउथ फ्रेशनर की तरह काम करती है, इसलिए मुंह की बदबू को दूर करने में यह फायदेमंद है। इसमें एंटी-माइक्रोबियल प्रॉपर्टीज भी होती हैं जो मुंह के बैक्टीरिया से लड़ती हैं। यह मुंह में लार के प्रोडक्शन को भी बढ़ा देती है जिससे मुंह का सूखापन दूर हो जाता है।

  • अपने मुंह को तुरंत फ्रेश करने के लिए एक चम्मच सौंफ को चबाएं।
  • आप सौंफ की चाय का सेवन भी कर सकते हैं। चाय बनाने के लिए एक कप पानी में दो चम्मच सौंफ डालकर 5 से 10 मिनट के लिए उबालें।

2. दालचीनी

दालचीनी में सिनामिक एल्डिहाइड (Cinnamic aldehyde) नामक आयल होता है जो मुंह की बदबू को कम करता है और मुंह के बैक्टीरिया को खत्म करने में मदद करता है।

मुंह को फ्रेश रखने के लिए नीचे दिए गए उपचार को दिन में दो बार अपनाएं

  • एक चम्मच दालचीनी के पाउडर को एक कप पानी में डालकर उबालें।
  • आप इसमें कुछ तेज पत्ते और इलाइची भी डाल सकते हैं।
  • अब इस मिश्रण को छान लें और ठंडा होने दें।
  • ठंडा होने के बाद इससे अपने मुंह को अच्छी तरह से साफ करके कुल्ला करें।

3. मेथी की चाय

श्लेष्मा झिल्ली (म्यूकस मेम्ब्रेन) में इन्फेक्शन होने पर मेथी की चाय काफी फायदेमंद होती है।

  • एक कप पानी में एक चम्मच मेथी के बीजों को उबालें।
  • अब इसे छानकर सेवन करें।
  • इसे तब तक रोज सेवन करें जबतक कि इन्फेक्शन ठीक न हो जाये।

4. लौंग

लौंग भी मुंह को फ्रेश करने में मदद करती हैं। इसमें एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं जो मुंह की बदबू को दूर करने में मदद करती हैं।

  • एक लौंग को अपने मुंह में दबा लें और धीरे-धीरे चबाएं। इससे कुछ ही मिनट्स में बदबू दूर को जायगी।
  • आप लौंग की चाय को भी बना सकते हैं। एक कप पानी उबालें, अब इसमें एक चम्मच लौंग का पाउडर डालकर अच्छी तरह से घोल लें। अब इस चाय को धीरे-धीरे चुस्कियां लेकर सेवन करें।

5. अजमोद (अजवाइन का हरा पौधा)

अजवाइन के हरे पौधे को अजमोद भी कहा जाता है। इसमें अत्यधिक क्लोरोफिल (chlorophyll) होता है जो मुंह की बदबू को बेअसर कर देता है।

  • अजमोद की पत्तियों या टहनी को चबाकर खाएं। आप इसे सिरका (विनेगर) में भिगोकर भी खा सकते हैं।
  • या फिर, अजमोद की पत्तियों को पीसकर जूस बनायें और सुबह शाम सेवन करें। इससे आपका पाचन भी ठीक होगा

6. निम्बू का रस

मुंह से बदबू का इलाज करने के लिए निम्बू के रस का इस्तेमाल सदियों से होता आ रहा है। निम्बू में एसिडिक पदार्थ होते हैं जो मुंह में बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकते हैं। साथ ही इसकी मजबूत सुखद गंध, बदबू को दबा देती है।

  • एक कप पानी में एक चम्मच निम्बू का रस डालकर घोलें।
  • अब इसे मुंह डालकर, मुंह को अच्छी तरह से साफ़ करें और कुल्ला करें।

यह उपचार मुंह के सूखेपन को दूर करेगा जो मुंह से बदबू आने का सबसे मुख्य कारण होता है।

7. सेब का सिरका (एप्पल साइडर विनेगर)

सेब का सिरका मुंह के pH को संतुलित करने में मदद करता है। इसलिए यह मुंह में बैक्टीरिया को पैदा होने से रोकता है।

  • रोज खाना खाने से पहले एक चम्मच सेब के सिरके को एक गिलास पानी में मिलाकर पियें। यह आपके पाचन को भी ठीक रखेगा।
  • या फिर, एक कप पानी में सेब का सिरका मिलाकर गरारे करें।

8. बेकिंग सोडा

बेकिंग सोडा भी मुंह की बदबू को दूर करने में फायदेमंद होता है। यह मुंह में बदबू पैदा करने वाली एसिड्स को कम करता है और बैक्टीरिया से लड़ता है।

  • एक गिलास पानी में डेढ़ चम्मच बेकिंग सोडा मिलाएं। अब इससे मुंह को साफ करके कुल्ला करें। ऐसा रोज एक बार करें।
  • बेकिंग सोडा से दांतों का मंजन करने से भी मुंह की एसिडिटी कम होती है और जीभ पर बैक्टीरिया नहीं पनप पाते।

9. टी ट्री आयल (चाय के पौधे का तेल)

टी ट्री आयल में एंटीसेप्टिक प्रॉपर्टीज होती हैं जो मुंह में किसी भी प्रकार के इन्फेक्शन को होने से रोकती हैं। आप ट्री का इस्तेमाल निम्न तरीकों से कर सकते हैं –

  • टी आयल आयल युक्त टूथपेस्ट का इस्तेमाल करें।
  • या फिर, अपने रेगुलर टूथपेस्ट में थोड़ा सा टी ट्री डालकर ब्रश करें।
  • टी ट्री आयल, पुदीना के रस और निम्बू के रस को एक गिलास पानी में मिलाकर कुल्ला करें।

10. हर्बल टी

ग्रीन टी और ब्लैक टी में पॉलीफेनॉल्स एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो मुंह में बदबू पैदा करने वाले बैक्टीरिया की ग्रोथ को रोकते हैं।

  • ग्रीन टी या ब्लैक टी का नियमित सेवन करें।

यदि ऊपर दिए गए उपचारों को अपनाने के बाद भी आपकी मुंह की बदबू की समस्या ठीक नहीं हो रही है तो किसी अच्छे डॉक्टर या डेंटिस्ट से उचित जाँच कराएँ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.