खराब पेट को ठीक करने के 10 घरेलू नुस्खे – Upset Stomach Home Remedies in Hindi

पेट खराब होने की समस्या की तीव्रता हलकी होने से लेकर काफी असुविधाजनक और दर्दनाक भी हो सकती है। लेकिन यदि इसका समय रहते उपचार कर लिया जाये तो यह कोई गंभीर समस्या नहीं होती।

पेट में खराबी अक्सर दस्त के साथ होती है। आपका शरीर दस्त के जरिये पेट के अंदर के विषाक्त पदार्थों को जल्दी बाहर निकालने की कोशिश करता है।

पेट ख़राब होने के कई कारण हो सकते हैं, जैसे फ़ूड पोइज़निंग, इन्फेक्शन, एलर्जिक रिएक्शन, ज्यादा खाना खा लेना, अत्यधिक तनाव, अत्यधिक शराब का सेवन, मोशन सिकनेस (यात्रा करने के दौरान जी मचलने और उल्टी करने की समस्या), किसी दवा का साइड इफ़ेक्ट, कोई पेट या आंत की बीमारी और गर्भावस्था।

इस समस्या के लक्षण उसके कारणों पर निर्भर करते हैं। लेकिन ज्यादातर मामलों में निम्न लक्षण दिखाई देते हैं – दस्त लगना, पेट फूलना, पेट में दर्द, ऐंठन, ठंड लगना, जी मचलना और उल्टी होना

पेट की खराबी के लक्षणों को जल्दी ठीक करने के लिए और कोई गंभीर स्वास्थ्य समस्या होने से बचने के लिए आप कुछ आसान घरेलू नुस्खों को अपना सकते हैं। यह नुस्खे आपके पेट को जल्दी शांत करने में मदद करेंगे और पाचन तंत्र में नियमितता लाएंगे।

यहाँ पर पेट की खराबी ठीक करने वाले 10 सबसे कारगर घरेलू नुस्खे दिए जा रहे हैं –

1. अदरक

पेट की खराबी ठीक करने के लिए अदरक काफी लोकप्रिय और कारगर पदार्थ है। इसमें एंटीफंगल और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं जो पेट दर्द को ठीक करती हैं और पाचन को सुधारती हैं।

साथ ही, यह दस्त की आवृत्ति और तीव्रता को कम करने में भी मदद करती हैं। इसमें आंतों को आराम प्रदान करने वाले केमिकल्स भी पाए जाते हैं।

  • एक कप घी में डेढ़ चम्मच अदरक को डालकर अच्छे से घोल लें और दिन में चार बार सेवन करें। अच्छे रिजल्ट पाने के लिए आप इसमें एक चुटकी हींग भी डाल सकते हैं।
  • या फिर, ताजा अदरक को स्लाइसेस में काट लें और दो कप पानी में डालकर 10 मिनट के लिए उबालें। अब इसे थोड़ा ठंडा होने दें और फिर चाय की तरह सेवन करें। इसको रोज दो-तीन बार सेवन करें।

चेतावनी: हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए अदरक का सेवन वर्जित होता है।

2. सेब का सिरका

जब पेट की खराबी को ठीक करने वाले घरेलू नुस्खों की बात आती है तो सेब का सिरका निश्चित रूप से सबसे बेस्ट उपायों में से एक होता है।

इसमें अत्यधिक मात्रा में पेक्टिन (pectin) होता है जो परेशान पेट को आराम प्रदान करता है और उबकाई को ठीक करता है।

साथ ही, इसका एसिडिक नेचर पेट के pH मान को सामान्य रखने में मदद करता है।

  1. एक गिलास पानी में एक चम्मच सेब का सिरका डालें।
  2. इसका स्वाद बढ़ाने के लिए थोड़ा सा शहद मिला दें।
  3. रोज खाना खाने के दौरान इसका सेवन करें, जब तक पेट की खराबी के लक्षण पूरी तरह से ठीक न हो जाएँ।

3. दही

खराब पेट और अपच को ठीक करने के लिए दही भी काफी लाभदायक होता है। क्योंकि इसमें ‘गुड’ बैक्टीरिया पाए जाते हैं जो पाचन की प्रक्रिया को ठीक से पूरा होने में मदद करते हैं।

यह बैक्टीरिया, आँतों में ‘गुड’ बैक्टीरिया के बैलेंस को पुनः स्थापित करने में मदद करते हैं, जिसके फलस्वरूप आपका शरीर अपच और डायरिया के दौरान तेजी से और कारगर रूप से ठीक होता है।

रोज दो से तीन कटोरी दही का सेवन करें, जबतक कि आप पूरी तरह से ठीक न हो जाएँ। स्वाद और प्रभावशीलता बढ़ाने के लिए आप इसमें केला या सेबफल के स्लाइसेस भी डाल सकते हैं।

4. केला

केला को पेट से सम्बन्धी समस्याओं जैसे बदहजमी और दस्त ठीक करने वाला सुपरफूड माना जाता है।

यह आसानी से पच जाता है और पेट में अतिरिक्त एसिड को सोख कर बाहर निकालने में मदद करता है।

इसमें भी भरपूर मात्रा में पेक्टिन पाया जाता है जो पतले मल को ठोस बनाने में मदद करता है।

साथ ही, केला में पोटैशियम भी होता है जो डायरिया के दौरान होने वाली इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी को फिर से बहाल करने में मदद करता है।

  • एक पके केले को मसलकर एक गिलास छाछ में डाल दें। इसको दो दिन के लिए रोज दो या तीन बार सेवन करें।
  • या फिर, एक पके केले को कटोरी में मसल लें और ऊपर से एक चम्मच पाकी इमली का गूथा और एक चम्मच नमक मिलाकर सेवन करें। इसका सेवन भी दो दिन के लिए रोज दो बार करें।

5. पुदीना

पुदीना एक सुगन्धित और स्वास्थ्यवर्धक पौधा होता है। इसको बदहजमी और उबकी ठीक करने में भी लाभकारी माना जाता है।

इसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटी-स्पास्मोडिक (ऐंठन दूर करने वाले) गुण होते हैं जो इसे खराब पेट को शांत करने वाली औषधि बनाते हैं।

साथ ही, इसमें एंटीऑक्सीडेंट्स और फाइटो-नुट्रिएंट्स भी पाए जाते हैं जो पाचन को ठीक करते हैं और बाइल (bile) के स्त्राव को उत्तेजित करते हैं।

  • पुदीना की ताजा पत्तियों को मिक्सी में पीसकर रस तैयार करें। अब एक-एक चम्मच पुदीना, शहद और नींबू के रस को मिलाकर सेवन करें। रोज इसको दो बार सेवन करें।
  • या फिर, एक चम्मच सूखी पुदीना की पत्तियों को एक कप पानी में डालकर उबालें। १० मिनट तक उबालने के बाद इसे छान लें और चाय की तरह सेवन करें। इसको भी रोज दो-तीन बार पियें। यह आपके खराब पेट को काफी हद तक शांत करेगी और बदहजमी से छुटकारा दिलाएगी।

6. मेथी के बीज

पेट की खराबी और सूजन से लड़ने के लिए मेथी के बीज भी काफी लाभदायक घरेलू नुस्खे होते हैं।

इनमें अत्यधिक मात्रा में mucilage (गोंद जैसा पदार्थ) पाया जाता है जो मल में मिलकर उसे आसानी से बाहर निकालने में मदद करता है।

  • पेट की खराबी से तुरंत राहत पाने के लिए रोज एक चम्मच मेथी के बीजों का पाउडर गटकने के बाद दो चम्मच दही का सेवन करें। ऐसा रोज दो बार करें।
  • या फिर, एक गिलास पानी में दो चम्मच मेथी के बीजों का पाउडर मिलाकर सेवन करें। इसे भी रोज दो बार सेवन करें।

7. जीरा

इस रसोई के शक्तिशाली मसाले को किसी भी पाचन सम्बन्धी समस्या जैसे पेट की खराबी में लाभदायक माना जाता है।

यह पेट की मांसपेशियों के contractions रोकता है, जिससे पेट शांत होता है। साथ ही, यह एंजाइंस के स्त्राव को बढ़ाकर पाचन को सुधारता है।

  • एक कप पानी में एक चम्मच जीरा डालकर उबालें। इसको गर्म अवस्था में भी चाय की तरह सेवन करें। रोज इसको तीन-बार सेवन करें जबतक कि समस्या पूरी तरह से ठीक न हो जाये।
  • या फिर, एक गिलास छाछ में डेढ़ चम्मच जीरा और एक चुटकी नमक डालकर सेवन करें। अच्छे रिजल्ट पाने के लिए इसका सेवन खाना खाने के बाद करें।
  • या फिर, आप एक चौथाई चम्मच भुने जीरा में आधा चम्मच शहद मिलाकर भी सेवन कर सकते हैं। इसका सेवन दिन में तीन-चार बार करें।

8. कैमोमाइल

कैमोमाइल में एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटी-स्पास्मोडिक गुण होते हैं और यह पाचन तंत्र की मांसपेशियों की परत को स्मूथ बनाता है। इसलिए कैमोमाइल के फूलों से बनी चाय पीने से खराब पेट से जल्दी राहत मिल सकती है।

  1. एक कप पानी में एक-एक चम्मच कैमोमाइल के फूल और पुदीना की पत्तियां डालकर 15 मिनट के लिए उबालें।
  2. अब इसे छान लें और एक चम्मच शहद डालकर सेवन करें।
  3. इस चाय का सेवन रोज दिन में तीन बार करें।

यह हर्बल चाय बाजार में टी बैग्स में भी उपलब्ध होती है।

9. दालचीनी

दालचीनी पेट से सम्बंधित समस्याओं को ठीक करने में मदद करती है और खराब पेट को शांत करती है। इसमें वायुनाशी गुण होने के कारण यह पाचन तंत्र को ठीक से और सामान्य रूप से काम करने में मदद करती है।

  • एक कप गर्म पानी में एक-चौथाई चम्मच दालचीनी डालकर चाय तैयार करें। अब इसका सेवन करें। इस चाय का सेवन लगातार दो दिनों के लिए दिन में चार बार करें।
  • या फिर, एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच दालचीनी पाउडर और एक चम्मच शहद डालकर अच्छी तरह घोल लें। इसका सेवन दिन में तीन बार करें।
  • या फिर, टोस्ट में थोड़ा सा मक्खन लगाकर और थोड़ा सा दालचीनी पाउडर छिड़ककर सेवन करें।

10. सौंफ

सौंफ में वायुनाशक, भूख बढ़ाने वाले, एंटी-माइक्रोबियल और ऐंठन को कम करने वाले गुण होते हैं। इसलिए यह खराब पेट, दर्द और पेट फूलने की समस्या को कम करने में काफी मदद करता है।

  • दो चम्मच सौंफ को चम्मच से हल्का सा पीस लें और एक कप गर्म पानी में डालकर 10 मिनट के लिए उबालें। अब इसे छानकर सेवन करें।  इस चाय को कुछ दिनों के लिए रोज दो या तीन बार सेवन करें।
  • खाना खाने के बाद एक चम्मच सौंफ को चबाकर खाएं।

निष्कर्ष

ज्यादातर लोग इन उपायों को अपनाकर पेट की खराबी से पूरी तरह छुटकारा पा लेते हैं। लेकिन, यदि आपको अत्यधिक पेट दर्द, उल्टी और डायरिया हो रहा है और इन उपचारों को अपनाने के 24 घंटे बाद भी कोई फायदा नजर नहीं आ रहा है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.