कान दर्द को ठीक करने के 10 घरेलू इलाज – Ear Pain Home Remedies in Hindi

कान दर्द होना काफी दुखद समस्या होती है। ज्यादातर यह समस्या कान के अन्दर इन्फेक्शन या फ्लूइड बिल्डअप (तरल पदार्थ के निर्माण) के कारण होती है। कान दर्द होने के अन्य कारण हैं – जुकाम होना, कान में मैल जमना, नाक की नली में रुकावट होना, कान के अन्दर फिजिकल डैमेज होना और किसी कारण वश कान में प्रेशर बढ़ना।

कुछ घरेलू नुस्खों को अपनाकर आप कान दर्द को घर पर ही ठीक कर सकते हैं। यहां पर कान दर्द को ठीक करने के 10 सबसे कारगर घरेलू नुस्खे दिए जा रहे हैं।

1. जैतून का तेल (Olive Oil)

जैतून का तेल कान दर्द में तुरंत राहत प्रदान कर सकता है। यह लुब्रिकेंट (चिकनाई देने वाला) की तरह काम करता है और कान के इन्फेक्शन को ठीक करने में मदद करता है। साथ ही, यह कान में सनसनाहट (buzzing sensations) को ठीक करने में भी मदद करता है।

  • हलके गर्म जैतून के तेल की 3-4 बूंदों को कान में डाल लें।
  • या फिर, एक रुई को जैतून के तेल में भिगोकर कान में लगा लें।

सरसों का तेल भी जैतून के तेल की तरह फायदेमंद होता है।

2. लहसुन (Garlic)

लहसुन में एनाल्जेसिक (पीड़ा हरने वाली) और एंटीबायोटिक (जीवाणुनाशक) प्रॉपर्टीज होती हैं जो इन्फेक्शन के कारण होने वाले कान दर्द को ठीक करने में मदद करती हैं।

  • एक चम्मच पिसे हुए लहसुन को तीन चम्मच तिल के तेल में गर्म करें। अब इस तेल को ठंडा होने दें और छान लें। अब इस तेल की 2-3 बूंदों को कान में डाल लें।
  • या फिर, लहसुन की कुछ कलियों का रस निकालकर कान में डालें।

3. प्याज (Onion)

कान दर्द के इलाज में प्याज सबसे आसानी से उपलब्ध होने वाली घरेलू औषधि है। इसमें एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती हैं।

  • कटी हुई प्याज से दो चम्मच रस निकाल लें और हलकी आंच में गर्म करें। अब इस जूस की 2-3 बूंदों को अपने दर्द वाले कान में डाल लें।
  • एक साफ कपड़े में कटी हुई प्याज को कस कर बाँध लें और फिर इसे किसी पत्थर से कुचल लें। अब इस कपड़े को अपने कान पर 5-10 मिनट के लिए रखें।

4. गर्म पानी की बोतल (Hot Water Bottle)

इन्फेक्टेड कान के आसपास नम गर्मी पैदा करने से दर्द कम करने में काफी मदद मिलती है। एक गर्म की बोतल को तौलिया में लपेटकर, कुछ मिनट के लिए कान पर रखे लें।

5. अदरक (Ginger)

अदरक में स्ट्रोंग एंटी-इन्फ्लामेट्री प्रॉपर्टीज होती हैं जो इन्फेक्शन को ठीक करने काफी मदद करती हैं। यह एक अच्छा प्राकृतिक दर्द निवारक भी होता है।

  • तजा अदरक में से जूस निकाल लें और इसे अपने कानों में डाल लें। इससे कान दर्द में राहत मिलेगी और इन्फ्लामेशन कम होगा।
  • आप इस जूस में जैतून का तेल मिलाकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

6. पुदीना

पुदीना की पत्तियां और तेल, दोनों ही कान दर्द में राहत प्रदान करने में लाभकारी होते हैं।

  • ताजा पुदीना की पत्तियों से जूस निकाल लें और इसकी कुछ बूंदें कानों में डाल लें।
  • या फिर, पुदीना और जैतून के तेल बराबर मात्रा में मिला लें और एक रुई के टुकड़े को इसमें भिगो लें। अब इस रुई को अपने कानों में लगा लें।

7. तुलसी

चूंकि तुलसी में एंटी-इन्फ्लामेट्री, एंटीबैक्टीरियल (जीवाणुरोधी) और एनाल्जेसिक (दर्दनिवारक) प्रॉपर्टीज होती हैं, इसलिए इसे कान दर्द के इलाज में काफी फायदेमंद माना जाता है।

  • कुछ तुलसी की पत्तियों को पीसकर रस निकाल लें।
  • इस जूस की तीन-चार बूंदें दर्द वाले कान में डाल लें।
  • ऐसा दिन में दो-तीन बार करें।

8. नीम

नीम में काफी प्रबल एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल प्रॉपर्टीज होती हैं जो इन्फेक्शन से लड़ने में मदद करती हैं। साथ ही, इसके एंटी-इन्फ्लामेट्री और एनाल्जेसिक इफ़ेक्ट होते हैं जो कान दर्द को कम करने में मदद करते हैं।

  • नीम की कुछ पत्तियों को पीसकर जूस निकाल लें। इस जूस की कुछ बूंदें कान में डाल लें।
  • या फिर, एक रुई के टुकड़े को नीम आयल में भिगोकर कान में लगा लें। कुछ मिनट बाद इसे निकाल लें।

इनमें से कोई भी एक उपचार रोज एक या दो बार करें, जब तक कि कान दर्द में पूरी तरह से ठीक नहीं हो जाता।

9. अजवायन

अजवायन को भी कान दर्द में प्रभावी प्राकृतिक औषधि माना जाता है, क्यूंकि इसमें एंटीसेप्टिक और एंटीमाइक्रोबियल प्रॉपर्टीज होती हैं।

  • तीन चम्मच तिल के तेल में एक चम्मच अजवायन के तेल को मिलाकर हलकी आंच में गर्म करें। अब इस तेल की कुछ बूंदों को कान में डालें।
  • दो चम्मच सरसों के तेल में आधा चम्मच अजवायन और दो लहसुन की कलियों को डालकर गर्म करें। इसको तबतक गर्म करें जबतक कि लहसुन की कलियां लाल न हो जायें। अब इस तेल को छान लें और इसकी कुछ बूंदें कान में डाल लें।

10. हेयर ड्रायर (Hair Dryer)

हेयर ड्रायर के जरिये कान में नम गर्मी (moist heat) डालने से भी दर्द को कम किया जा सकता है।

नहाने के बाद अपने गीले कानों को टॉवल से साफ न करें, बल्कि हेयर ड्रायर से सुखोयें। हेयर ड्रायर की सेटिंग को वार्म पर रखें और इसे कान से थोड़ा दूर रखें।

नोट – हेयर ड्रायर को 5 मिनट से ज्यादा समय के लिए इस्तेमाल न करें।

यदि इन उपचारों को भी कान दर्द में राहत नहीं मिलती तो अपने डॉक्टर से कंसल्ट करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.