हींग के 10 फायदे – Asafetida Health Benefits in Hindi

हींग एक शक्तिशाली महक वाली spice है जो खाने को स्वादिष्ट और खुशबूदार बनती है। इसका ज्यादार इस्तेमाल भारतीय और फारसी खाने में होता है।
मेडिकल नजरिये से देखा जाये तो इसमें प्रोटीन, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम, फास्फोरस, लोहा, नियासिन, कैरोटीन और राइबोफ्लेविन पाया जाता है।

हींग को रसोई के आलावा आयुर्वेदिक औषधि में भी काफी इस्तेमाल किया जाता है। इसमें carminative, antiviral, antibacterial, antioxidant, anti-inflammatory, anticoagulant, antispasmodic, sedative, diuretic, vermifuge, expectorant, emmenagogue, aphrodisiac और anti-carcinogenic properties होती हैं।

इसके कई चिकित्सकीय और रोगनाशक को देखते हुए इसे ‘देवतायों का खाद्य पदार्थ’ भी माना जाता है।

यहाँ हींग के 10 सबसे कारगर स्वास्थ्य लाभ दिए जा रहें हैं –

1. पेट की समस्यायों को दूर करती है (Treats Stomach Problems)

पेट की कई समस्यायों में हींग काफी फायदेमंद होती है। इसमें मौजूद antispasmodic, anti-inflammatory, antioxidant और antiflatulent properties पेट की कई समस्यायों जैसे बदहजमी (indigestion), पेट की ख़राबी (upset stomach), पेट की गैस, पेट के कीड़े, पेट फूलना (flatulence) और irritable bowel syndrome (IBS) से बचाती हैं। Food poisoning होने पर भी इसको फायदेमंद माना जाता है।

  • अपने खाने की सब्जी में हींग का प्रयोग नियमित करें।
  • इसके इस्तेमाल का एक और तरीका है – रोज खाने के बाद आधा कप पानी में थोड़ी सी हींग डालकर पियें।

2. सांस की बीमारियों का इलाज करती है (Cures Respiratory Disorders)

इसके anti inflammatory, antiviral और antibiotic effects कई सांस की बिमारियों जैसे दमा (asthma), bronchitis, सूखी खांसी, काली खांसी और सर्दी जुकाम को ठीक करते हैं। Respiratory stimulant की तरह भी काम करती है जो छाती में रक्त संचय (chest congestion) और बलगम के लिए फायदेमंद है।

  • सर्दी जुकाम या खांसी होने पर हींग को पानी के साथ पीसकर पेस्ट तैयार करें और इसे अपनी छाती पर मलें।
  • ढेड़ चम्मच हींग और सूखे अदरक को दो चम्मच शहद में मिलाएं। अब इसे दिन में तीन बार सेवन करें। यह उपचार सूखी खांसी, काली खांसी, asthma और cough को दूर करता है।

3. मासिक धर्म की परेशानियों को दूर करती है (Relieves Menstrual Issues)

हींग महिलायों के लिए एक वरदान की तरह है क्योंकि यह मासिक धर्म के दर्द (menstrual pain), अनियमित मासिक धर्म (irregular menstruation) और अत्यधिक खून के स्त्राव की समस्या को दूर करती है। यह progesterone secretion को बढ़ाती है और खून के संचार को ठीक करती है।

  • एक कप छाछ में आधा चम्मच मेथी का पाउडर, एक चुटकी हींग और स्वादानुसार नमक मिला लें।
  • एक महीने तक लगातार इसे दिन में तीन बार सेवन करें।

4. सिरदर्द में फायदेमंद

माइग्रेन, सर्दी जुकाम आदि किसी भी समस्या के कारण हुए सिरदर्द में हींग काफी फायदेमंद होती है। इसमें anti-inflammatory properties होती हैं जो blood vessels के inflammation को कम करके सिरदर्द में राहत प्रदान करती हैं।

  • डेढ़ कप पानी में थोड़ी सी हींग डाल कर गरम करें। इसे कम से कम 15 मिनट के लिए उबलने दें और फिर चाय की तरह सेवन करें। हलके तनाव के कारण हुए सिरदर्द में इसे दिन में तीन बार सेवन करें।
  • एक-एक चम्मच हींग, सूखे अदरक और कपूर को दो चम्मच मिर्च पाउडर में मिला लें। अब इसमें दूध डालकर पेस्ट बना लें। tension और migraine को कम करने के लिए इस पेस्ट को अपने माथे पर लगायें।

5. दांतों के दर्द को कम करे

हींग में मौजूद anti-inflammatory, antibacterial और antioxidant properties के कारण यह दांतों के दर्द को कम करती है और इन्फेक्शन से लड़ती है। यह Bleeding gums (मसूड़ों से खून बहना) और dental caries (दंत क्षय) को भी ठीक करती है।

  • दांतों के दर्द में तुरंत राहत पाने के लिए हींग को दर्द वाले स्थान में दबाकर रख लें।
  • आप हींग से कुल्ला भी कर सकते हैं। एक कप पानी में थोड़ी सी हींग और कुछ लौंग डालकर उबालें। जब यह थोड़ा ठंडा हो जाये तो इससे कुल्ला करें।

अच्छा परिणाम पाने के लिए in उपायों को कुछ दिनों तक लगातार अपनाएं।

6. कान के दर्द को कम करे

इसमें anti-inflammatory और antibiotic properties होती हैं जो infection के कारण हुए कान के दर्द को कम करती हैं।

  • एक छोटी सी कटोरी में नारियल के तेल को गर्म करें।
  • इसमें थोड़ी सी हींग डाल दें और इसे घुलने तक इंतिजार करें।
  • जब यह हल्का गर्म रह जाए तो इसे ear drop की तरह कान में डालें।

7. Colic Pain को ठीक करती है

Colic pain छोटे बच्चों में अचानक से होने वाला दर्द होता है जिसका मुख्या कारण होता है उनकी कमजोर मांसपेशियां। हींग बच्चों के gastrointestinal tract में मौजूद mucous membranes को मजबूत करती है जिससे colic pain ठीक हो जाता है।

बच्चों में इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने doctor से सलाह जरुर लें क्योंकि उनके दर्द के कई और कारण भी हो सकते हैं।

  • हींग को गर्म पानी में मिलाकर पतला पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को बच्चों की नाभि के आसपास लगायें (ध्यान रखें इसे नाभि में न लगायें)
  • जरुरत पड़ने पर इसे बार-बार करें।

ध्यान रखें – छोटे बच्चों को हींग खाने के रूप में न दें।

8. कैंसर को रोकती है

हींग एक शक्तिशाली antioxidant होती है, यह शरीर को free radicals से बचाती है। कई शोधों से यह पता चला है कि इसमें मौजूद anti-carcinogenic property घातक कोशिकाओं (malignant cells) के विकास को रोककर हमें कैंसर बचाती हैं।

हींग में ऐसे कई compounds होते हैं जो कैंसर को रोकते हैं, उनमें से सबसे महत्वपूर्ण compound हैं umbrelliprenin और ferulic acid, यह दोनों ही new cancer cells के development को रोकते हैं।

9. नपुंसकता का इलाज करती है

हींग पुरुषों में होने वाली नपुंसकता और erectile dysfunction को भी ठीक करती है।

  • एक चौथाई हींग को घी में भून लें।
  • अब इसमें आधा चम्मच ताजा बरगद के पेड़ का दूध और थोड़ा सा शहद मिला लें।
  • इसे लगातार 40 दिनों तक रोज सुबह सेवन करें।

Egypt में हुए एक शोध से यह भी पता चला है कि हींग यौन संक्रमण (genital infections) को भी ठीक करती है।

10. मधुमक्खी के काटने पर राहत देती है

मधुमक्खी या ततैय्या के काटने पर हींग दर्द को कम करती है और जहर को फैलने से रोकती है। बाजार में मौजूद कई insect repellent products में हींग ही मौजूद होती है।

  • इसके पाउडर को पानी में मिलाकर पेस्ट तैयार करें।
  • अब इसे डंक से काटे हुए स्थान पर लगायें।
  • अब इसे सूखने तक इंतिजार करें और फिर धो लें।
  • जरुरत पड़ने पर इसे दोबारा करें।

ध्यान रखें

जो लोग उच्च रक्तचाप की दवाइयां लेते हैं और जिन लोगों को blood clotting की problems हैं वह इसे इस्तेमाल न करें। गर्भवती महिलाएं भी हींग का सेवन न करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.