हिचकी दूर करने के 10 घरेलू उपाय – Hiccups Home Remedies in Hindi

हिचकी को synchronous diaphragmatic flutter (SDF) या singultus भी कहा जाता है। यह पेट की diaphragm muscle (पेट और छाती को separate करने वाली मांसपेशी) में होने वाला बेकाबू संकुचन (uncontrollable contraction) होता है जिसपर हमारा कोई काबू नहीं होता।

Diaphragm के contraction से सांस एकदम से हमारे अन्दर आती है और उसी दौरान स्वर रज्जु (vocal cords) एकदम से बंद हो जाती हैं। इसी से हिचकी का sound आता है।

हिचकियाँ एक-दो या लगातार कई हो सकती हैं। ज्यादातर लोगों को यह कुछ minutes के लिए ही होती हैं और काफी rare cases में यह कुछ घंटों के लिए भी हो सकती हैं। इस दौरान आपको छाती, पेट और गले में थोड़ा तनाव भी महसूस हो सकता है।

हिचकियाँ होने के कारण हैं – अधिक carbonated या alcoholic पैय पदार्थों का सेवन, ज्यादा खाना (overeating), जल्दी-जल्दी खाना (eating too quickly), मसालेदार खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन (eating very spicy foods), किसी प्रकार का excitement या emotional stress होना, smoking करना, room temperature में अचानक बदलाव आना आदि

Long-term hiccups, जो कई घंटों तक रहती हैं उनके कारण हैं – जठरांत्र की स्थिति (gastrointestinal conditions), metabolic disorders, तंत्रिका तंत्र (nervous system) में कोई tumor या infection होना, nerves का damage होना और कुछ medicines का सेवन करने से भी यह side-effect के रूप में होती हैं

कुछ medical conditions जैसे बेहोशी (anesthesia), शराब का नशा (alcoholism), मधुमेह (diabetes), electrolyte imbalance, किडनी खराब होना (kidney failure), steroids और tranquilizers के नशे के दौरान भी हिचकी शुरू हो सकती हैं।

Public place में हिचकियाँ शुरू होना काफी annoying और embarrassing experience होता है। वैसे कुछ मिनट की हिचकियाँ अपनेआप ठीक हो जाती हैं लेकिन इन्हें काबू में करने के लिए कुछ घरेलू उपाय भी अपनाये जा सकते हैं।

यहाँ पर 10 सबसे कारगर घरेलू उपाय दिए जा रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप hiccups से बच सकते हैं –

1. ठंडा पानी (Cold Water)

आप ठन्डे पानी से अपनी body को shock देके हिचकी से राहत पा सकते हैं। Body में किसी भी प्रकार के shock से distraction पैदा होता है और हिचकी बंद हो जाती हैं।

  • Hiccups होने पर तुरंत एक गिलास ठन्डे पानी में थोड़ा सा शहद डालकर पी लें।
  • आप ठन्डे पानी के गरारे या कुल्ला भी कर सकते हैं।
  • बर्फ के टुकड़े को चूसने से भी फायदा हो सकता है।

2. उल्टा होकर पानी पीना

चूंकि ठंडा पानी पीने से body को shock लगता है और हिचकी बंद हो जाती हैं। लेकिन यदि आप इसे उल्टा होकर पियें तो आपको ज्यादा फायदा मिलेगा।

  • एक गिलास में ठंडा पानी भर लें।
  • अब कमर के बल झुकें और अपना सिर नीचे करें।
  • अब गिलास के पानी को उलटी तरफ से पियें, जैसा कि चित्र में दिखाया गया है।
  • अगर जरुरी हो तो इसे repeat करें।

आप इस video में भी इसका तरीका देख सकते हैं –

3. सांस को थामें (Hold Your Breath)

सांस थामकर हिचकी बंद करने की विधि प्राचीन काल से अपनाई जाती रही है। इससे खून में कार्बनडाइऑक्साइड की मात्रा बढ़ जाती है और दिमाग distract होने लगता है, जिसके फलस्वरूप हिचकियाँ बंद हो जाती हैं।

  • एक गहरी सांस लें और फिर उसे अन्दर ही तब तक थामे रखें जबतक आप रख सकते हैं।
  • अब सांस को धीरे-धीरे controlled manner में बाहर निकालें।
  • फिर सांस अन्दर लें ऊपर दी हुई steps फिर से दोहराएं।
  • इसे कुछ cycles तक दोहराते रहें जब तक की हिचकी बंद न हो जाएँ।

4. चीनी (Sugar)

चीनी हिचकी का एक बहुत ही अच्छा इलाज है, खासतौर से छोटे बच्चों के लिए जो ऊपर दिए उपायों को ठीक से नहीं अपना सकते। चीनी को निगलने से vagus nerve stimulate हो जाती है और hiccups बंद हो जाती हैं।

  • एक चम्मच में white या brown sugar लें।
  • 5 seconds के लिए मुंह में sugar को hold करें।
  • इसे बिना चबाये मुंह में घुलने दें।
  • अब एक घूंट पानी पीकर इसे निगल लें।

यह उपचार adults भी अपना सकते हैं, लेकिन जिन्हें मधुमेह (diabetes) है वो इसे न अपनाएं।

5. सिरका (Vinegar)

सिरका हिचकी दूर करने का एक और effective उपचार है। इसका खट्टा स्वाद mind को distract करंता है जिससे hiccups बंद हो जाती हैं। आप white, malt या apple cider vinegar का इस्तेमाल कर सकते हैं।

  • आधा चम्मच सिरका को पानी के साथ निगल लें।
  • आप इसे पानी में घोलकर भी पी सकते हैं।

6. मूंगफली का मक्खन (Peanut Butter)

यह उपचार भी प्राचीन काल से हिचकी दूर करने के लिए इस्तेमाल होता आ रहा है। Peanut butter की sticky और gooey consistency, breathing pattern को interrupt करती है जिससे हिचकी बंद हो जाती हैं।

  • एक चम्मच मूंगफली के मक्खन को मुंह में डालें।
  • इसे कुछ समय के लिए मुंह में ही रखें और फिर बिना चबाये निगल लें।
  • यदि जरुरी हो तो इसके बाद एक गिलास पानी पी लें।

यदि मूंगफली का मक्खन उपलब्ध न हो तो आप बादाम के मक्खन का प्रयोग कर सकते हैं।

7. एक Paper Bag में सांस लें

हिचकी दूर करने की tested trick है कागज के बने bag में मुंह डालकर लेना। इससे body में कार्बन डाइऑक्साइड मात्रा बढ़ जाती है जिसके फलस्वरूप पेट जल्दी-जल्दी सांस अन्दर बाहर लेने लगता है और हिचकी बंद हो जाती हैं।

  • एक छोटे कागज के bag को अपने मुंह के चारों तरफ बांध लें जिससे बाहर की हवा अन्दर न जाये।
  • अब धीरे-धीरे deep breath लें।
  • इस process को several times दोहराएँ जब तक कि hiccups बंद न हो जाएँ।

Note – Heart और stroke के patients इस उपचार को न करें। चूंकि इस उपचार के दौरान सांस फूलती है जो कुछ लोगों के लिए uncomfortable हो सकती है, इसलिए आप इसे अपने comfort level के हिसाब से ही करें।

8. निम्बू (Lemon)

निम्बू हिचकी को बीच में ही रोकने का काफी कारगर उपाय है। निम्बू का खट्टा स्वाद irritated nerves को overwhelm करके हिचकी बंद कर देता है।

  • आधा चम्मच निम्बू के रस बिना पानी के सीधे मुंह में डाल लें। इसका जोरदार खट्टा स्वाद आपको इसे निगलने के लिए मजबूर करेगा, लेकिन कुछ समय के लिए इसे मुंह में ही रखें। इससे तुरंत हिचकी दूर हो जाएँगी।
  • इसके इस्तेमाल का एक और तरीका है – एक चम्मच निम्बू के रस को आधा गिलास पानी में डालकर पी जाएँ। यह पहले उपाय से थोडा कम effective है लेकिन इसका भी फायदा होता है।
  • आप निम्बू को आधा काटकर उसमे नमक छिड़क कर चूस भी सकते हैं।

9. इलाइची (Cardamom)

इलाइची में muscle-relaxing properties होती हैं जो हिचकी को रोकने में मदद करती हैं।

  • एक चम्मच इलाइची के पाउडर को एक गिलास गर्म पानी में अच्छी तरह से घोल लें।
  • इसे 15 मिनट के लिए ऐसे ही रखा रहने दें और छान लें।
  • अब इसे पी लें।

10. Chamomile

Chamomile में भी muscle-relaxant properties होती हैं जो हिचकी के दौरान पेट में होने वाले contraction को कम करती हैं।

  • सूखे chamomile herb का पाउडर बना लें।
  • अब इसकी एक चम्मच को पानी में डालकर पी लें।

अतिरिक्त उपाय

  • हिचकी के दौरान अपने दिमाग को इनसे distract करने की कोशिश करें। जैसे गाना गाना, किताब पढ़ना, बाते करना आदि।
  • जल्दी-जल्दी खाना न खाए और उतना ही खाएं जितना आपके शरीर के लिए जरुरी है।
  • मसालेदार और तले भुने खाने को अवॉयड करें।

यदि हिचकी लम्बे समय तक लगातार रहें तो तुरंत doctor से consult करें।

4 Responses

  1. शैलेश कहते हैं:

    हिचकी बंद नहीं हो रहा है क्या करें कोई उपाय बताएं.

  2. हलाल खान कहते हैं:

    मैंने सारी चीजें खा के देख लीं लेकिन मेरी हिचकी बंद नहीं हो रही हैं, यह पिछले दो दिन से हो रही हैं.

  3. सुदर्शन गुप्ता कहते हैं:

    thank sir मैंने चीनी खाई तो हिचकी बंद हो गईं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.