फूड पाइज़निंग के लक्षण और दूर करने के 10 घरेलू उपचार – Food Poisoning Symptoms and Home Remedies in Hindi

ज्यादातर लोग अपने जीवन में एक बार food poisoning जरूर पीड़ित होते हैं। Food poisoning दूषित खाने में मौजूद bacteria, viruses या अन्य toxins के कारण होती है।

इसके सबसे मुख्य लक्षण हैं – उल्टी होना, जी मिचलाना, सिर दर्द, चक्कर आना, पेट में मरोड़ और दस्त लगना। Food poisoning को नजरंदाज नहीं करना चाहिए।

जब हमारा शरीर food poisoning से पीड़ित होता है तब इन toxins को बाहर निकालने के लिए अधिक पानी का इस्तेमाल करता है। इसलिए इस दौरान अधिक पानी का सेवन करके अपने शरीर को hydrated रखें।

यदि आपको उलटी और दस्त हो रहे हैं तो सिर्फ liquid पदार्थों का ही सेवन करें और solid foods न खाएं।

इसके साथ ही विषाक्त पदार्थों को जल्दी से जल्दी शरीर से बाहर निकालने के उपाय करें। यहाँ पर 10 सबसे कारगर घरेलू उपाय दिए जा रहे हैं जिनको अपनाकर आप food poisoning को ठीक कर सकते हैं।

1. अदरक (Ginger)

अदरक किसी भी प्रकार की digestive problems के लिए काफी कारगर खाद्य पदार्थ है। यह food poisoning के कारण शरीर को होने वाली समस्यायों को भी दूर करता है।

  • दोहपर और रात के खाने के बाद एक कप अदरक की चाय का सेवन करें। यह सीने में जलन, जी मचलना और अन्य food poisoning के लक्षणों को दूर करेगी।
  • अदरक के रस की कुछ बूंदें एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर गटक लें। इसे दिन में तीन-चार बार करें।
  • आप अदरक को slices में काटकर भी सेवन कर सकते हैं।

2. सेब का सिरका (Apple Cider Vinegar)

हालांकि acidic होने के बावजूद apple cider vinegar का हमारे शरीर के अन्दर alkaline effect होता है। इस कारण यह food poisoning के कई लक्षणों को दूर करता है। यह gastrointestinal lining को शांत करता है और bacteria को मारता है जिससे हमें instant relief मिलती है।

  • दो चम्मच सेब के सिरके को एक कप गर्म पानी में घोलकर खाने से पहले सेवन करें।
  • आप इसे पानी में मिलाये बिना भी सेवन कर सकते हैं।

3. मेथी के बीज और दही

दही में antibacterial और antimicrobial properties होती हैं जो food poisoning फैलाने वाले bacteria से लड़ती हैं। मेथी के बीज abdominal discomfort को दूर करने में मदद करते हैं।

आप एक चम्मच मेथी के बीजों को जरुरत अनुसार दही में मिलकर सेवन कर सकते हैं। आप बीजों को चबाएं नहीं बल्कि इन्हें साबुत गटक लें। मेथी के बीज और दही के संयोजन से आपको पेट दर्द और उल्टी में instant relief मिलेगी।

4. निम्बू पानी (Lemon Juice)

निम्बू में मौजूद anti-inflammatory, antiviral और antibacterial properties इस समस्या में काफी राहत प्रदान करती हैं। निम्बू में acidic properties भी होती हैं जो bacteria को खत्म करने में मदद करती हैं।

  • एक चम्मच निम्बू के रस में एक चुटकी चीनी डालकर सेवन करें। इसे दिन में दो-तीन बार दोहराएँ।
  • आप निम्बू पानी का भी सेवन कर सकते हैं। यह आपके digestive system को clean out करेगा।

5. तुलसी

Food poisoning के कारण हुई पेट की समस्यायों को दूर करने के लिए तुलसी काफी कारगर औषधि है। इसमें antimicrobial properties भी होती हैं जो micro-organisms से लड़ने में मदद करती हैं।

  • तुलसी की पत्तियों को पीसकर juice तैयार करें और इसमें थोड़ा सा शहद मिलाकर दिन में दो तीन बार सेवन करें। आप इसमें थोड़ा सा धनिया का रस भी मिला सकते हैं।
  • तुलसी के तेल की कुछ बूंदें एक गिलास पानी में मिलकर सेवन करें। ऐसा दिन में चार बार करें। यह bacteria को मरने में मदद करेगा।
  • आप अपनी चाय में भी तुलसी मिलकर सेवन कर सकते हैं। इससे चाय का स्वाद भी बढ़ेगा और आपको फायदा भी मिलेगा।

6. लहसुन (Garlic)

लहसुन में भी strong antiviral, antibacterial और antifungal properties होती हैं इसलिए यह भी food poisoning से लड़ने में मदद करता है। यह दस्त और पेट दर्द को भी काम करता है।

  • एक फ्रेश लहसुन की कली को पानी के साथ गटक लें। यदि आप लहसुन की smell को tolerate कर सकते हैं तो लहसुन का जूस बनाकर पियें।
  • लहसुन के तेल को सोयाबीन के साथ के साथ बराबर मात्रा में मिलाएं और खाना खाने के बाद इसे पेट पर मलें।

7. केला (Banana)

केला खाने से पेट साफ़ रहता है क्योंकि यह आसानी से पच जाता है। केला में अत्यधिक मात्रा में पोटैशियम पाया जाता है जो दस्त और उल्टी के कारण शरीर में हुई पोटैशियम की कमी को दूर करता है।

सिर्फ एक केला खाने से आपके शरीर का energy level भी restore हो जाता है। आप केला जूस बनाकर भी सेवन कर सकते हैं।

8. जीरा

फूड पोइसोनिंग के कारण हुए abdominal discomfort और stomach inflammation को जीरा आसानी से ठीक कर देता है।

  • एक चम्मच जीरा को एक कप पानी में गर्म करें। अब इसमें एक चम्मच फ्रेश धनिये से बने जूस को मिलाएं और स्वादानुसार नमक डाल लें। इसे दिन में दो बार सेवन करें।
  • आप जीरा और हींग को मिलाकर हर्बल ड्रिंक भी तैयार कर सकते हैं। इसे भी दिन में दो बार सेवन करें। यह आपके शरीर से विषाक्त पदार्थों को निकालकर आपको शांति प्रदान करेगा।

9. हर्बल टी (Herbal Tea)

विभिन्न प्रकार की हर्बल टी के सेवन से आप अपने disturbed system को शांत कर सकते हैं और अपनी body को well hydrated रख सकते हैं।

Peppermint tea के सेवन से पेट साफ होता है और पेट के cramps खत्म होते हैं। Comfrey root tea और meadow sweet tea के सेवन से पेट का इन्फेक्शन दूर होता है। यदि आपको जी मचलने की समस्या है तो licorice tea या chamomile tea का सेवन करें, यह inflammation को कम करके पेट को शांत करेंगी।

10. शहद

शहद में antifungal और antibacterial properties होती हैं जो कब्ज और food poisoning के लक्षणों को कम करती हैं।

रोज एक-एक चम्मच शहद को तीन बार सेवन करने से upset stomach को आसानी से ठीक किया जा सकता है। यह पेट में excess acid के formation को भी control करता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.