चेचक ठीक करने के 10 घरेलू उपचार – Chicken Pox Home Remedies in Hindi

चेचक की बीमारी varicella-zoster नामक वायरस के द्वारा होती है और यह आसानी से एक इंसान से दूसरे इंसान में फैल सकती है।

यह बीमारी संक्रमित व्यक्ति के द्वारा हवा, जीभ के संपर्क में आने पर, बलगम या दागों के फ्लूइड के संपर्क में आने पर फैल सकती है। चेचक से संक्रमित व्यक्ति में जबतक दाग पूरी तरह से सूख नहीं जाते तबतक वह संक्रामक रहता है।

चेचक का संक्रमण होने के 10-21 दिन के अन्दर इसके लक्षण दिखाई देने लगते हैं। इसके सबसे सामान्य लक्षण हैं – पूरे शरीर में लाल दाग होना जिनमें लगातार खुजली होती रहती है

इसके अन्य लक्षण हैं – बुखार, थकान, भूख न लगना और मांशपेशियों में दर्द होना। चूंकि ज्यादातर लोग बचपन में ही इसका टीका लगवालेते हैं, इसलिए यह बीमारी ज्यादातर नवजात बच्चों में होती है। इसके अलावा जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी पॉवर) कम होती है उनमें भी यह बीमारी हो सकती है।

आमतौर पर चेचक के सबसे कष्ट दायक लक्षण लगभग 2 हफ़्तों तक ही रहते हैं। इस दौरान, आप कुछ आसान घरेलू उपचारों को अपनाकर इसके लक्षणों को कम कर सकते हैं और खुजली से राहत पा सकते हैं।

नीचे चेचक के 10 सबसे कारगर घरेलू उपचार दिए जा रहे हैं

1. बेकिंग सोडा (Baking Soda)

चेचक के कारण होने वाली खुजली और जलन से छुटकारा पाने के लिए बेकिंग सोडा का इस्तेमाल किया जा सकता है।

  • एक गिलास पानी में तीन चम्मच बेकिंग सोडा मिलायें। अब किसी मुलायम कपड़े को इस पानी में भिगोकर दागों पर रख दें और इसके सूखने का इन्तेजार करें। आप कपड़े की जगह रुई का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।
  • या फिर, अपने नहाने के पानी के टब में डेढ़ कप बेकिंग सोडा लें और फिर इसमें अपने पूरे शरीर को डुबोकर रखें।

2. नीम

नीम में एंटीवायरल प्रॉपर्टीज होती हैं, इसलिए इसे चेचक के इलाज में काफी फायदेमंद माना जाता है। साथ ही, यह चेचक के लाल दागों को सुखोने में मदद करती है और खुजली और जलन से काफी आराम प्रदान करती है।

एक मुट्ठी नीम की पत्तियों को पीसकर पेस्ट बना लें और अपने लाल दागों पर लगा लें। साथ ही, अपने नहाने के पानी में भी नीम डालकर उपयोग करें।

3. गाजर और धनिया (Carrots and Coriander)

गाजर और धनिया से बना सूप चेचक के इलाज में अत्यधिक फायदेमंद होता है। इसमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो हीलिंग प्रोसेस को बढ़ाते हैं।

  • 100 ग्राम गाजर और 60 ग्राम धनिया को काट लें।
  • अब इन्हें दो कप पानी में डालकर तबतक उबालें जबतक कि यह पानी आधा न हो जाये।
  • लगातार 30 दिन तक रोज इस सूप का सेवन करें।
  • साथ ही, आप उबली हुई गाजर और धनिया को खा भी सकते हैं।

4. ओटमील

ओटमील से नहाने से चेचक की खुजली और जलन से राहत मिलती है।

  • दो कप बारीक ओटमील को गर्म पानी के टब में डाल दें।
  • अब इस पानी में अपने पूरे शरीर को 15-20 मिनट के लिए डुबोये रखें।

5. ब्राउन विनेगर (Brown Vinegar)

चेचक के इलाज में ब्राउन विनेगर सबसे कारगर औषधियों में से एक है। यह स्किन की जलन में राहत प्रदान करता है, घावों को भरता है और खुजली को रोकता है।

डेढ़ कप ब्राउन विनेगर को गर्म पानी के बाथटब में डाल दें और फिर इसमें अपने पूरे शरीर को 10-15 मिनट के लिए डुबोये रखें।

6. शहद (Honey)

शहद खुजली में आराम प्रदान करता है और चेचक के कारण हुए फोड़ों को भरने में मदद करता है।

  • अच्छी क्वालिटी के शुद्ध शहद को अपने घावों पर लगायें।
  • ऐसा दिन में दो-तीन बार करें।

7. हर्बल टी (Herbal Tea)

शामक हर्बल टी जैसे कैमोमाइल, तुलसी, गेंदा और नींबू की टी चेचक में फायदेमंद होती हैं।

  • एक चम्मच हर्बल टी को एक कप पानी में उबालें।
  • इसे कुछ देर तक उबलने के बाद छान लें।
  • अब इसमें स्वादानुसार दालचीनी, शहद और नींबू का रस मिलाकर चाय की तरह सेवन करें।
  • अच्छे रिजल्ट पाने के लिए इस चाय का सेवन दिन में दो-तीन बार करें।

8. लैवेंडर का तेल (Lavender Oil)

लैवेंडर आयल भी चेचक के कारण हुई स्किन की जलन और खुजली में राहत प्रदान करता है।

  • लैवेंडर के तेल को किसी वाहक तेल जैसे बादाम या नारियल के तेल में मिलाकर पतला बना लें। अब इस तेल को अफेक्टेड एरिया में लगाकर छोड़ दें। जब यह पूरी तरह से सुख जाए तो धोकर दूसरा लगा लें।
  • या फिर, नहाने के गर्म पानी में कुछ बूंदें लैवेंडर और कैमोमाइल तेल की डाल दें। अब इस पानी में अपने पूरे शरीर को 10-15 मिनट के लिए डुबोये रखें।

9. चंदन का तेल (Sandalwood Oil)

चन्दन के तेल में एंटीसेप्टिक और एंटी-इन्फ्लामेट्री प्रॉपर्टीज होती हैं जो चेचक के इलाज में मदद करती हैं। साथ ही, यह चेचक के दागों को साफ करने में भी मदद करता है।

चंदन के तेल की कुछ बूंदों को वाहक तेल जैसे बादाम के तेल में मिला लें। अब इस तेल को अपने घावों पर लगायें। ऐसा नियमित रूप से करें जब तक कि दाग पूरी तरह से साफ न हो जायें।

10. गेंदा का फूल (Mmarigold Flowers)

गेंदा का फूल भी चेचक की खुजली को ठीक करने में काफी मदद करता है।

  • चार चम्मच गेंदा के फूल की पत्तियों और दो चम्मच हेज़ल की पत्तियों को डेढ़ कप पानी में डुबोकर रातभर के लिए रख दें।
  • सुबह इन्हें अच्छी तरह से पीसकर पेस्ट बना लें।
  • अब इस पेस्ट को सीधे अपने घावों पर लगायें।
  • जब यह पूरी तरह से सूख जाये तो इसे साफ कर लें।

अतिरिक्त टिप्स

  • चेचक की शुरुआती स्टेज के दौरान अपने भोजन में अंजीर को शामिल करें।
  • ताजा फलों और सब्जियों के जूस का सेवन करें।
  • विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन अधिक करें।
  • चेचक के दागों को हटाने के लिए इनपर विटामिन ई आयल लगायें।
  • चेचक के फोड़ों या घावों को खुजली न करें, क्यूंकि इससे हीलिंग प्रोसेस धीमी हो जाती है और बैक्टीरियल इन्फेक्शन होने की सम्भावना बढ़ जाती है। यदि आपका बच्चा खुजली किये बगैर नहीं मानता तो उसके नाखूनों को काट ठीक से काट दें और दोबारा बढ़ने न दें।
  • चूंकि बीमारी की रोकधाम ही इसका सबसे अच्छा इलाज होता है, इसलिए अपने बच्चे को पहले ही चेचक का टीका लगवा लें।

चूंकि चेचक काफी आम बीमारी है जो समय के साथ अपने आप ठीक हो जाती है। लेकिन, यदि आप या आपका बच्चा इसके कारण गंभीर रूप से बीमार हो गया है तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.