भूख बढ़ाने के 10 घरेलू उपाय – Home Remedies to Increase Appetite in Hindi

भूख न लगना एक temporary और reversible समस्या होती है। इसका सबसे मुख्य कारण होता है कुछ मनोवैज्ञानिक परेशानियां जैसे डिप्रेशन और चिंता (anxiety).

कुछ medical issues भी poor appetite को बढ़ावा देते हैं जैसे viral या bacterial infections, chronic liver disease, hypothyroidism, kidney failure, hepatitis, heart failure, पागलपन (dementia) आदि। कुछ medicines भी इस problem को बढ़ावा देती हैं।

भूख बढ़ाने के लिए ऐसे कई कारगर घरेलू उपाय उपलब्ध हैं जिनको अपनाकर आप अपने खाने को फिर enjoyable बना सकते हैं। लेकिन यदि यह परेशानी काफी लम्बे समय से है और इसके कारण आपका वजन काफी तेजी से कम हो रहा है तो सबसे पहले doctor से जांच कराकर इसका proper treatment लें।

भूख न लगने की समस्या को दूर करने के लिए 10 सबसे कारगर घरेलू उपाय नीचे दिए जा रहे हैं –

1. आमला

Gastrointestinal issues के कारण मरी हुई भूख में आमला काफी फायदेमंद होता है। यह GI system में tonic की तरह काम करता है, digestive tract की functionality को बढ़ाता है और liver में मौजूद toxic पदार्थों को निकलता है।

साथ ही आमला में vitamin C भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो immune system को boost करता है और mineral absorption को बढ़ाता है। यह दोनों ही process पोषक तत्वों पूर्ति के लिए काफी जरूरी होती हैं।

  • दो-दो चम्मच आमला के रस, निम्बू के रस और शहद को एक कप पानी में मिला लें। सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। अच्छे result के लिए इसे लगातार चार महीनों तक करें।
  • रात को सोने से पहले एक कप पानी में एक चम्मच आमला के पाउडर को डालकर रख दें। सुबह इसमें दो चम्मच निम्बू का रस और एक चुटकी काली मिर्च का पाउडर डालकर सेवन करें। इसे भी सुबह खाली पेट लगातार चार महीनों तक सेवन करें।
  • आप आमला को सब्जी, अचार आदि के रूप में भी सेवन कर सकते हैं।

2. अदरक (Ginger)

अदरक बदहजमी (indigestion) को दूर करके भूख को बढ़ाता है। साथ ही यह पेट दर्द की समस्या को भी दूर करता है।

  • आधा अदरक को बारीक काट लें और ऊपर से एक चुटकी सेंध नमक डाल दें। अब इसे खाने के 10 मिनट पहले सेवन करें। ऐसा लगातार 10 दिनों तक करें।
  • आप अदरक को चाय में डालकर भी सेवन कर सकते हैं।

3. काली मिर्च (Black Pepper)

काली मिर्च पाचन सुधारने, भूख बढ़ाने और gastrointestinal problems को दूर करने के लिए आयुर्वेद में काफी प्रचलित औषधि है। यह पेट की गैस को भी दूर करती है।

असल में काली मिर्च taste buds (स्वाद लेने वाली कलिकाएं) को stimulate करती है जिसके फलस्वरूप पेट में hydrochloric acid का secretion बढ़ जाता है और digestion improve होने लगता है। इसके साथ ही काली मिर्च में piperine नामक compound पाया जाता है जो selenium, beta-carotene और vitamin B के absorption को बढ़ाता है।

  • एक बड़ी चम्मच गुड़ में आधा चम्मच काली मिर्च मिलाकर अच्छी तरह से मिक्स कर लें।
  • कुछ समय के लिए इसे रोज सेवन करें।

Note – यदि आपको पेट में ulcer हैं या आपकी हाल ही में abdominal surgery हुई है तो काली मिर्च का सेवन न करें।

4. इलाइची (Cardamom)

छोटी इलाइची एक बहुत ही फायदेमंद digestive tonic है। यह बदहजमी, पेट फूलना (flatulence) और acidity को खत्म करती है और साथ ही digestive juices के secretion को stimulate करती है।

  • इलाइची का फायदे लेने के लिए इसके पिसे बीजों को चाय में डालकर पियें।
  • खाने के बाद दो छोटी इलाइची को चबाकर खाएं।

5. अजवाइन (Carom Seeds)

अजवाइन भी digestive system के लिए बहुत फायदेमंद होती है। यह digestive acids और enzymes के secretion को improve करके भूख बढ़ाती है। इसके सेवन से कब्ज की समस्या भी दूर होती है।

  • खाने के आधे घंटे पहले आधा चम्मच अजवाइन चबाकर खाएं।
  • तीन चम्मच अजवाइन में थोड़ा सा निम्बू का रस मिलकर पेस्ट बना लें। अब इसे किसी सूखी और अंधेरी जगह में सूखने के लिए रख दें। पूरी तरह से सूखने के बाद इसमें थोड़ा सा काला नमक मिला लें। अब इस मिश्रण की एक-एक चम्मच दिन में दो बार गर्म पानी के साथ लें।

6. सिंहपर्णी की जड़ (Dandelion Root)

सिंहपर्णी की जड़ digestion ठीक करने और भूख बढ़ाने के लिए काफी प्रचलित औषधि है। यह liver और gallbladder की problems को भी ठीक करती है। यह मूत्रवर्धक (diuretic) औषधि का भी काम करती है।

  • सिंहपर्णी की जड़ को टुकड़ों में काट लें और पांच मिनट के लिए एक कप पानी में उबालकर चाय तैयार करें। आप इसमें दालचीनी पाउडर भी मिला सकते हैं।
  • अब इस चाय को छान लें और स्वादानुसार शहद मिला लें।

सिंहपर्णी की जड़ें बाजार के किसी भी food store पर काफी आसानी से मिल जाती हैं। आप इन्हें अपने गार्डन या क्यारी में भी उगा सकते हैं।

Note – यदि आप किसी भी प्रकार की medicines ले रहें हैं तो सिंहपर्णी का इस्तेमाल करने से पहले अपने doctor से advice जरूर लें।

7. लहसुन (Garlic)

लहसुन भी भूख बढ़ाने के लिए काफी उपयोगी माना जाता है क्योंकि यह भी digestive system को stimulate करता है।

  • तीन या चार लहसुन की कलियों को एक कप पानी में उबालें।
  • अब इसे छानकर इसमें आधा निम्बू निचोड़ दें।
  • इस juice को दिन में दो बार सेवन करें और improvement देखें।

8. धनिया (Coriander)

धनिया भी भूख को बढ़ाता है क्योंकि यह gastric juices के secretion को improve करता है। यह बदहजमी, गैस और जी मिचलाना भी दूर करता है।

  • धनिया के पत्तियों में से जूस निकाल लें।
  • इस जूस की एक या दो चम्मच रोज पियें जबतक भूख न लगने की परेशानी खत्म न हो जाये। स्वाद बढ़ाने के लिए आप इसमें निम्बू का रस और नमक भी मिला सकते हैं।

9. इमली (Tamarind)

इमली भी appetite को increase करती है। इसके कई medicinal फायदे भी हैं। लेकिन मालाबार इमली का सेवन न करें क्योंकि यह भूख को कम करती है।

  • इमली का पेस्ट बनाकर इसमें स्वादानुसार चीनी, मिर्च और दालचीनी मिला लें।
  • अब इसे पानी में घोलकर नियमित सेवन करें।

10. अल्फला

अल्फला बहुत ही कारगर भूख उत्तेजक होता है और साथ ही यह प्राकृतिक रूप से खून और liver साफ करने वाला खाद्य पदार्थ भी है। चूंकि यह एक मूत्रवर्धक (diuretic) पदार्थ भी है इसलिए किडनी की परेशानियां भी दूर करता है।

इसमें vitamin A, B, C, D और K होने के साथ calcium, magnesium, potassium, phosphorus, iron, zinc, folic acid और कई अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं। इसलिए यह overall health के लिए बहुत ही फायदेमंद है।

  • अल्फला की सूखी पत्तियों की चाय बनाकर रोज सेवन करें।
  • आप अपने भोजन में अल्फला के बीजों को भी शामिल कर सकते हैं।

Note – अल्फला का सेवन करने से पहले अपने doctor से consult जरूर करें क्योंकि यह autoimmune रोग, गठिया और कई other medical conditions के लिए suitable नहीं होता है।

इन घरेलू उपायों के साथ कुछ और आसान कदम उठाकर आप अपनी भूख बढ़ा सकते हैं, जैसे थोड़ा-थोड़ा और बार-बार खाना और नियमित व्यायाम करना।

यदि यह परेशानी फिर भी नहीं ठीक हो रही हो तो अपने doctor से इसका proper evaluation करायें और treatment लें।

7 Responses

  1. माही कहते हैं:

    मेरा शरीर नहीं बन रहा है.

  2. संतोष मौर्य कहते हैं:

    मेरा पेट फूला हुआ है. भूख बिल्कुल नहीं लगती. मुंह पूरा फीका लगता है. पूरा पेट खोखला और बेजान लगता है. वजन कम हो रहा है. शरीर में ताजगी और फुर्ती नहीं है. मुझे बीमारी बताएं और उसका इलाज भी.

  3. धर्मेन्द्र कुमार कहते हैं:

    मुझे भूख नहीं लगती है और मैं एक दम दुबला पतला हूँ, मुझे अपनी बॉडी को मजबूत और हेल्थी बनाना है, कहा किया जाए.

  4. सुभाष यादव कहते हैं:

    मेरा शरीर दुबला पतला है मुझे कोई दवा बताएं.

  5. पविन्द्र कहते हैं:

    सर मेरी याददाश्त बहुत कम हो गई है सर मैं क्या करूँ?

  6. सोहेल कहते हैं:

    मैं बचपन से बहुत दुबला पतला हूँ और मेरा शरीर अब और भी ज्यादा दुबला होता जा रहा है. मैंने बहुत सारे कोर्स कर लिए लेकिन कुछ भी असर नहीं हुआ और मुझे भूख भी नहीं लगती.

  7. प्रवीन श्रीवास्तव कहते हैं:

    मेरा नाम प्रवीन है. मेरी एक प्रॉब्लम है. खाना हजम नहीं हो रहा है, कोई दवा बताएं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.