बादाम खाने के 10 फायदे – Almond Benefits in Hindi

स्वाद में काफी स्वादिष्ट और बहुमुखी गुणों से भरपूर होने के कारण बादाम काफी पोपुलर खाद्य पदार्थ है। ज्यादातर लोग बादाम को नट्स (nuts) समझते हैं लेकिन तकनीकी रूप से यह बीज होते हैं।

बादाम दो प्रकार की किस्मों में मिलते हैं – स्वीट (sweet) और बिटर (bitter)। स्वीट बादाम को खाने के रूप में इस्तेमाल किया जाता है और बिटर बादाम से आयल (तेल) बनाया जाता है। यह दोनों ही किस्में आसानी से बाजार में उपलब्ध होती है।

बादाम को रात को भिगोकर रख दें और सुबह खाएं। बाजार में बादाम का दूध, आटा और मक्खन भी उपलब्ध होता है।

बादाम स्वाद में स्वादिष्ट होने के साथ-साथ स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होता है। इसमें उच्च गुणवत्ता वाले प्रोटीन, विटामिन ई, मैग्नीशियम, फाइबर और कई जरुरी एमिनो एसिड्स भरपूर मात्रा में होते हैं। यह शरीर को कॉपर, विटामिन बी, कैल्शियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस, आयरन और हेल्थी फेट्स (healthy fats) भी प्रदान करता है। हालांकि बादाम में कई सारे जरुरी पोषक तत्व होते हैं लेकिन इनका अत्यधिक सेवन नुकसानदायक भी हो सकता है इसलिए इसका एक उचित मात्रा में ही सेवन करना चाहिए।

नीचे बादाम के टॉप 10 फायदे दिए जा रहे हैं –

1. कोलेस्ट्रॉल को कम करता है (Control Bad Cholesterol)

बादाम का नियमित सेवन करने से आपके कोलेस्ट्रॉल का स्तर ठीक होता है। बादाम में polyunsaturated and monounsaturated fats होते हैं जो HDL (high density lipoproteins or “good” cholesterol) को बढ़ाते हैं और LDL (low density lipoproteins or “bad” cholesterol) को कम करते हैं।

2002 में अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन जर्नल ने एक रिसर्च के जरिये यह पता लगाया कि बादाम LDL कोलेस्ट्रॉल के स्तर को 15 प्रतिशत तक कम कर सकता है। प्रत्येक 7 ग्राम बादाम का सेवन LDL कोलेस्ट्रॉल के स्तर को 1 प्रतिशत कम करता है।

2. मधुमेह को नियंत्रित करता है (Controls Diabetes)

बादाम ब्लड के शुगर लेवल को कम करता है और मधुमेह के कारण होने वाली अन्य समस्यायों से बचाता है। इसमें मौजूद हेल्थी फैट्स, विटामिन्स और खनिज पदार्थ शरीर की अवशोषण प्रक्रिया (absorption) और ग्लूकोज प्रोसेसिंग को ठीक करने में मदद करते हैं।

ऑनलाइन जर्नल Diabetes Care में पब्लिश हुए एक शोध के अनुसार बादाम पुरुषों में और रजोनिवृत्ति महिलायों (postmenopausal women) में टाइप-2 मधुमेह (Type 2 diabetes) कम करने में मदद कर सकता है।

इसके साथ ही कुछ अन्य शोधों से यह पता चला है कि बादाम अत्यधिक खाना खाने के बाद रक्त में आने वाली शुगर की बाड़ से बचाता है। इसके फलस्वरूप डायबिटीज होने की सम्भावना कम हो जाती है।

ब्लड शुगर लेवल को हेल्थी बनाये रखने के लिए रोज खाना खाने के तुरंत पहले एक बादाम को खाएं।

3. ह्रदय को स्वस्थ रखने में मदद करता है

बादाम में ऐसे कई पोषक तत्व होते हैं जो ह्रदय को स्वस्थ रखते हैं। उदहरण के लिए बादाम में पाया जाने वाला मैग्नीशियम रक्त संचार को बेहतर बनाकर शरीर में ऑक्सीजन और पोषक तत्वों की आवाजाही को बढ़ाता है। इससे रक्तचाप (blood pressure) नियंत्रित रहता है और हार्ट अटैक (दिल का दौरा) की सम्भावना कम होती है।

बादाम में मोनो-अनसैचुरेटेड वसा (monounsaturated fat) अधिक होता है जो ह्रदय के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। साथ ही इसमें विटामिन भी होता है। विटामिन ई एक एंटीऑक्सीडेंट होता है जो धमनियों को नुकसान पहुँचाने वाले इन्फ्लामेसन (inflammation) को कम करता है। इससे ह्रदय रोग होने की संभावनाएं कम हो जाती हैं।

अपने ह्रदय को स्वस्थ रखने के रोज चार-पांच बादामों का सेवन करें। बादाम को आप नास्ते के रूप में, सलाद, सूप आदि बनाकर सेवन कर सकते हैं।

4. दिमाग की क्षमता को बढ़ाता है (Improves Brain Power)

बादाम में मौजूद अत्यधिक विटामिन ई दिमाग को तेज रखने के लिए काफी फायदेमंद है। यह संज्ञानात्मक गिरावट (cognitive decline) को रोकता है और सतर्कता (alertness) और याददाश्त (memory power) को बढ़ाता है

साथ ही बादाम में जिंक भी खूब होता है जो ब्रेन सेल्स को फ्री रेडिकल डैमेज (free radical damage) से बचाता है। इसमें मौजूद विटामिन बी-6, प्रोटीन के मेटाबोलिज्म को ठीक करता है जो ब्रेन सेल्स को रिपेयर करने के लिए जरुरी होता है।

बादाम में phenylalanine नामक अल्फा एमिनो एसिड होता है जो पार्किंसंस रोग (Parkinson’s disease) को होने से रोकता है और डोपामाइन (dopamine) और एड्रिनैलिन (adrenaline) नामक ब्रेन केमिकल्स के उत्पादन को बढ़ाता है। यह केमिकल्स हमारी ध्यान और स्मरण शक्ति को बनाये रखने के लिए जरुरी होते हैं और हमारी प्रॉब्लम सोल्विंग स्किल्स बढ़ाते हैं।

स्मरण शक्ति को बढ़ाने और दिमाग को तेज करने के लिए बादाम का नियमित सेवन करें।

5. वजन कम करने में मदद करता है

बादाम में मौजूद फाइबर, प्रोटीन और मोनो-अनसैचुरेटेड वसा भूख को कम करते हैं। इससे आप कम खायेंगे और मोटा होने से बचे रहेंगे। इसमें मौजूद विटामिन बी और जिंक हमारी शुगर या मीठी चीजों को खाने की इच्छा को कम करते हैं।

यूरोपियन जर्नल ऑफ क्लिनिकल न्यूट्रीशन में पब्लिश हुई एक रिसर्च के अनुसार जो लोग लगातार चार हफ्तों तक रोज 50 ग्राम बादामों का सेवन करते हैं उनका वजन अन्य लोगों के मुकाबले काफी कम बढ़ता है। इसलिए यदि आप वजन कम करने के लिए डाइटिंग करना चाहते हैं तो बादाम का रोज सेवन करें।

Note – रोज 20 से 25 बादामों से अधिक का सेवन न करें।

6. माँ के पेट में नवजात शीशियों का ठीक से विकास होने में मदद करता है

बादाम में अत्यधिक मात्रा में फोलिक एसिड होती है जो माँ के पेट में मौजूद नवजात शिशुयों के सेल्स और टिश्यू का ठीक से विकास करने में मदद करती है। यह नवजात शिशुयों में neural tube defects (NTDs) जैसे spina bifida और anencephaly होने से रोकती है।

इसलिए यदि आपके घर में कोई भी गर्भवती महिला हो तो उसे अपनी डाइट में बादाम को शामिल करने को कहें। यह बेबी में कोई जन्म दोष होने से रोकेगा।

7. कब्ज ठीक करता है (Prevents Constipation)

बादाम में मौजूद अत्यधिक फाइबर कब्ज की रोकधाम और इलाज दोनों करता है। फाइबर पाचन तंत्र में भोजन की आसान आवाजाही को बढ़ावा देता है जिसके कारण कब्ज ठीक होता है। इसके साथ ही आपको खूब पानी पीने की भी जरूरत है जिससे पाचन और मल त्याग सरल हो जाता है। बादाम जैसे फाइबर युक्त पदार्थों के सेवन से पेट के कैंसर की भी रोकधाम होती है।

पाचन तंत्र के कारण सीने में होने वाली जलन (heartburn) को भी ठीक करने में मदद करता है। इसमें मौजूद आयल कंटेंट पेट की एसिड्स को बेअसर करके आराम प्रदान करता है।

अपने पचान और मल त्याग को ठीक रखने के लिए रोज चार से पांच बादामों का सेवन करें।

8. हड्डियों को मजबूत को मजबूत बनता है (Strengthens Bones)

बादाम में फॉस्फोरस और कैल्शियम प्रचुर मात्रा में होते हैं जो हड्डियों के लिए सबसे जरुरी खनिज पदार्थ हैं। इसमें मैग्नीशियम, मैंगनीज और पोटैशियम भी होते हैं जो हड्डियों को मजबूत बनाये रखने में मदद करते हैं।

साथ ही बादाम शरीर में मौजूद फ्री रेडिकल्स करके ऑस्टियोपोरोसिस को ठीक करता है।

अपनी हड्डियों को मजबूत बनाये रखने के लिए और गठिया जैसे गंभीर हड्डी के रोगों से बचे रहने के लिए पोषक तत्वों से भरपूर बादाम का नियमित सेवन करें। छोटे बच्चों की बादाम के तेल से मालिश करने से उनकी हड्डियाँ मजबूत बनी रहती हैं।

9. त्वचा को स्वस्थ रखता है (Keeps Skin Healthy)

बादाम त्वचा को स्वस्थ और सुन्दर बनाये रखने में भी काफी मदद करता है। इसमें मौजूद विटामिन ई त्वचा को पोषण देता है और उसे ड्राई होने से बचाए रखता है।

बादाम के तेल से त्वचा की मालिश करने से रंग संवरता है, सूरज की किरणों से नुकसान कम होता है और त्वचा स्वस्थ बनी रहती है। इसकी अच्छी बात यह है कि बादाम के तेल की मालिश से स्किन चिपचिपी नहीं होती और उसके छिद्र बंद नहीं होते। आप बादाम के दूध से भी स्किन की मालिश कर सकते हैं।

बादाम में एंटी-एजिंग प्रॉपर्टीज भी होती हैं जो झुर्रियां (wrinkles), फाइन लाइन्स और अन्य एजिंग संकेतों को खत्म करती हैं।

10. बालों की परेशानियों से बचाए रखता है

बालों में होने वाली परेशानियाँ जैसे डेंड्रफ (dandruff), बाल झड़ना, घुंघराले बाल या सिर की खुजली में बादाम फायदेमंद काफी होता है। इसमें कई हेयर फ्रेंडली पोषक तत्व होते हैं जैसे विटामिन ई, बायोटिन, मैंगनीज, कॉपर और फैटी एसिड्स। यह सभी पोषक तत्व बालों को लम्बा, काला, घना और मुलायम बनाये रखने में मदद करते हैं।

साथ ही बादाम में मौजूद जिंक नए सेल्स को बनाने में मदद करते बालों को मोटा करता है। शरीर में जिंक की कमी होने पर बाल पतले होने लगते हैं और झड़ने लगते हैं।

Note – किडनी या पित्ताशय के मरीज बादाम का सेवन न करें क्योंकि इसमें oxalates होते हैं।

8 Responses

  1. राकेश शर्मा कहते हैं:

    मैं 4 महीनों से बादाम खा रहा हूँ और मेरा भी IQ बढ़ गया है और मैं स्वस्थ हूँ और खुश हूँ.

  2. Abhishek roi कहते हैं:

    मैं रोज दूध के साथ 5 बादाम लेता हूँ और मेरा दिमाग और शरीर दोनों स्वस्थ हैं.

  3. Abhishek roi कहते हैं:

    बादाम दिमाग और याददाश्त के लिए बहुत लाभदायक है.

  4. सान्या शुक्ला कहते हैं:

    क्या बादाम और शहद से बने फसपैक का उपयोग धुप में जाने से पहले कर सकते हैं.

  5. faeem कहते हैं:

    पानी पीने से पेशाब जल्दी-जल्दी आता है तो क्या करें?

  6. राजनीत कुमार कहते हैं:

    पहले मैं कम बादाम खाता था लेकिन अब यह सब जानने के बाद मैं रोज 10 बादाम खाऊंगा.

  7. बलजीत कहते हैं:

    में दौड़ लगाने के बाद 4 बादाम खाता हूँ.

  8. रामसेबक मिश्रा कहते हैं:

    मै नियमित 5-6 बादाम 24 घंटे पानी मे फुलाकर खाता हूँ एबं ऊपर से 4 ग्लास पानी पीकर 5 km घूमकर 1 घंटे योगा करता हूं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.