आग से जलने के 10 घरेलू उपचार – Minor Burns Home Remedies in Hindi

आग या किसी गर्म वस्तु के संपर्क में आने पर त्वचा की ऊपरी परत जलकर लाल पड़ जाती है और जलन होने लगती है। आग से जलने पर यदि सिर्फ त्वचा की ऊपरी परत को ही नुकसान पहुंचा है तो इसका घर पर ही उपचार किया जा सकता है। इसे सतही जलना (superficial burn) भी कहा जाता है।

यदि इसका समय पर उपचार न किया जाये तो जली त्वचा पर दर्दनाक फफोले निकलने लगते हैं। ऐसे कई घरेलू उपाय मौजूद हैं जिनको अपनाकर आग से जलने की जलन को कम किया जा सकता है और उसे ठीक किया जा सकता है।

1. ठंडा पानी (Cold Water)

शरीर की कोई भी त्वचा यदि आग से जल जाये तो तुरंत उसपर कुछ मिनट के लिए ठंडा पानी डालते रहें। इससे जलन फैलेगी नहीं और घाव जल्दी ठीक हो जायगा।

आप किसी polythene में ठंडा पानी डालकर उसे जली हुई जगह पर रख सकते हैं या किसी कपड़े को भी ठन्डे पानी में भिगोकर रख सकते हैं। जल्दी से जल्दी राहत पाने के लिए इसे हर घंटे दोहराते रहें।

ध्यान रखें – बर्फ का प्रयोग न करें क्योंकि इससे खून का स्त्राव थीमा हो जाता है और यह जली हुई जगह के tissues को भी damage कर सकता है जिससे घाव और अधिक गहरा हो जायगा।

2. कच्चा आलू (Raw Potato)

कच्चे आलू में anti-irritating और soothing properties होती हैं जो minor burn को ठीक करती हैं। यह दर्द को कम करता है और फफोले होने के chances को भी कम करता है।

  • एक कच्चे आलू के slices काट लें। अब एक-एक slice को जली हुई त्वचा पर रगड़ें। यह रखें कि आलू का रस त्वचा पर लगता रहे।
  • एक और उपाय है कच्चे आलू को पीसकर पेस्ट बना लें और उसे जली हुई जगह पर 15 से 20 मिनट तक लगाये रखें।

बेहतर result पाने के लिए इसे जलने के तुरंत बाद प्रयोग करें।

3. एलोवेरा (Aloe Vera)

एलोवेरा में astringent और tissue-healing properties होती हैं जो आग जलने पर होने वाले घाव को ठीक करती हैं।

  • फ्रेश एलोवेरा के पत्ते के जेल को सीधे जली हुई जगह पर डालकर धीरे-धीरे लगायें।
  • बेहतर परिणाम पाने के लिए आप इसमें एक चम्मच हल्दी डालकर भी लगा सकता हैं।

यदि आपके पास एलोवेरा का पौधा उपलब्ध नहीं है तो बाजार में उपलब्ध एलोवेरा क्रीम का प्रयोग करें।

4. नारियल का तेल और निम्बू का रस (Coconut Oil and Lemon Juice)

जले हुआ घाव जब थोड़ा cool और dry हो जाये तब इसपर नारियल के तेल और निम्बू के रस का इस्तेमाल करना चाहिए। नारियल के तेल में vitamin E और fatty acids जैसे lauric acid, myristic acid और caprylic acid पाई जाती हैं जो antifungal, antioxidant and antibacterial होने के कारण जले हुए घाव में इन्फेक्शन नहीं होने देतीं। निम्बू के रस में acidic properties होती हैं जो प्राकृतिक रूप से scars को कम करती हैं।

नारियल के तेल और निम्बू के रस को बराबर मात्रा में लेकर अच्छी तरह से मिला लें। इसे रोज सुबह शाम जले हुए घाव पर लगायें।

5. शहद (Honey)

शहद में antibacterial और anti-inflammatory properties होती हैं जो घाव को infection से बचाती हैं और इसे जल्दी भारती हैं। इससे hypertrophic scars होने की सम्भावना भी कम हो जाती है।

  • शहद को घाव पर लगाकर ऊपर से पट्टी बांध लें।
  • इस पट्टी को दिन में तीन-चार बार बदलें।

6. Black Tea Bags (काली चाय का पाउडर)

Black tea में मौजूद tannic acid आग से जली त्वचा से heat बाहर निकालकर जलन को कम करती है।

  • तीन black tea के bags को एक गर्म पानी से भरी मटकी में कुछ देर के लिए डुबोये रखें।
  • जब पानी ठंडा हो जाये तो इसमें एक कपड़े को भिगोकर जली हुई skin पर रख दें।
  • इस प्रक्रिया को दिन में तीन-चार बार करें।

7. सिरका (Vinegar)

सिरका में astringent और antiseptic properties होती हैं जो minor burns के उपचार में फायदेमंद हैं और infection को रोकती हैं।

  • Dilute white vinegar या apple cider vinegar को सामान मात्रा में पानी लेकर मिला लें। अब इस solution से आग से जले घाव पर लगायें।
  • कुछ देर बाद diluted सिरका से भीगे कपड़े से घाव पर पट्टी बांध लें।

8. लैवेंडर का तेल (Lavender Essential Oil)

लैवेंडर के तेल में antiseptic और painkilling properties होती हैं। यह आग से जलने के बाद बनने वाले धब्बे (scar) की सम्भावना को भी कम करता है।

  • लैवेंडर के तेल की पांच बूंदे दो कप पानी में डाल दें। अब इस पानी से एक कपड़ा भिगोकर घाव पर बांध लें।
  • आप लैवेंडर के तेल को घाव पर directly लगा भी सकते हैं लेकिन सिर्फ diluted oil (पानी मिला हुआ) का ही इस्तेमाल करें।
  • लैवेंडर के तेल में कुछ बूंदे शहद की मिलाकर भी घाव पर लगाया जा सकता है।

9. केला के पत्ते (Plantain Leaves)

Burns के उपचार में केले के पत्तों का प्रयोग काफी प्रचलित है। इनमें anti-inflammatory और antimicrobial properties होती हैं।

  • केले के पत्तों को पीसकर पेस्ट तैयार करें।
  • पेस्ट को घाव पर लगाकर कपड़े से बांध लें।
  • जब यह सूख जाये तो दूसरा पेस्ट लगा लें।

10. प्याज का रस (Onion Juice)

प्याज के रस में सल्फर और quercetin होता है जो जलन को कम करता है, घाव को जल्दी भरता है और फफोले होने की सम्भावना को कम करता है।

  • एक ताजा प्याज को पीसकर उसका रस निकाल लें। इस रस को जले हुए स्थान पर मलें।
  • सिर्फ ताजा प्याज का ही इस्तेमाल करें क्योंकि पुरानी प्याज अपनी medicinal properties खो देती है।
  • इस प्रक्रिया को दिन में तीन-चार बार करें।

अतिरिक्त टिप्स

  • आप जले हुए स्थान पर white toothpaste या regular non-mentholated shaving cream भी लगा सकते हैं।
  • जले हुए स्थान पर तेल, मक्खन, पेट्रोलियम जेली, या अंडे के सफेद छिलके न लगायें क्योंकि यह heat को बढ़ा सकते हैं। अंडे के छिलकों में bacteria भी मौजूद हो सकते हैं।
  • बर्फ का इस्तेमाल न करें।
  • यदि फफोले पड़ गए हैं तो उन्हें फोड़ें नहीं क्योंकि इससे इन्फेक्शन फैलता है।
  • घाव पर चिपकने वाले कपड़े का इस्तेमाल न करें।
  • घाव को किसी भी प्रकार के friction, re-injuring या tanning से बचाए रखें।

यह उपचार सिर्फ छोटे-मोटे और first-degree के burns के लिए कारगर हैं। यदि त्वचा बुरी तरह से जल गई हो तो doctor से contact करें। बिजली से जलने पर या जले हुए पर बुरी तरह से इन्फेक्शन हो जाने पर भी doctor को दिखाएँ।

4 Responses

  1. Sanjay kamejliya कहते हैं:

    मैं आग से जल गया हूँ, मेरी चमड़ी ऊपर हो गई है.

  2. चेतन कहते हैं:

    आज दिवाली है और मेरा हाथ अनार से जल गया है

  3. अंकित कहते हैं:

    medisalic cream लगाने से मेरा फेस काला हो गया है, प्लीज सर इस कालेपन को दूर करने का उपाय बताएं.

  4. रमीजा फातिमा कहते हैं:

    मैं घर में आयल से जल गई और बहुत-बहुत-बहुत ही ज्यादा जलन हो रही है. प्लीज मुझे कोई टिप्स दें.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.